अपना शहर चुनें

States

Suicide का लाइव VIDEO : देखिए फांसी पर झूल चुके युवक की पुलिसवाले ने कैसे बचाई जान

भोपाल में फांसी पर लटक चुके युवक की सिपाही ने जान बचायी
भोपाल में फांसी पर लटक चुके युवक की सिपाही ने जान बचायी

सिपाही और घरवालों ने फौरन युवक के गले से फंदा निकाला और सोफे पर लिटाया. युवक ज़िंदा था. उसकी सांस चल रही थी. सिपाही इस युवक की जान बचा चुका था. फौरन उस पर पानी छिड़का युवक ने आंखें खोलीं...और इसी के साथ सिपाही और परिवार की सांस में सांस आयी.

  • Share this:
भोपाल.आम तौर पर जनता (public)में पुलिस (police)की छवि असंवेदनशील के तौर पर रहती है. या फिर फिल्मों में दिखाया जाता है कि पुलिस अक्सर तब पहुंचती है, जब घटना या वारदात हो चुकी होती है. लेकिन भोपाल में एक पुलिस वाले(police) ने फांसी पर लटक चुके एक आदमी की जान बचा ली. ये वीडियो रोंगटे खड़े कर रहा है.

फिल्मों से लेकर जोक्स तक में यही मज़ाक उड़ाया जाता है कि पुलिस हमेशा वारदात होने के बहुत देर बाद मौके पर पहुंचती है.लेकिन भोपाल के कमला नगर में एक सिपाही ने बता दिया कि पुलिस की फुर्ति क्या होती है. इस सिपाही ने समय पर पहुंचकर मौत के मुंह में जा चुके युवक को नयी ज़िंदगी दे दी.
पत्नी से झगड़ा
कमला नगर इलाके में रहने वाले इस युवक का रोज अपनी पत्नी से झगड़ा होता है. पत्नी का कहना है कि पति शराबी है. रोज पीकर आता है और मारपीट करता है. रोज-रोज के झगड़े से परेशान युवक ने आज खुद को घर के अंदर बंद कर लिया और आत्महत्या की कोशिश करने लगा. पत्नी ने ये देख लिया. उसने फौरन पुलिस को फोन किया और पति की जान बचाने की गुहार लगायी.
सिपाही ने तोड़ा दरवाज़ा
ड्यूटी पर तैनात सिपाही आनन-फानन में पहुंच भी गया. घर में चीख़-पुकार मची थी. पत्नी तो ये मान चुकी थी कि पति आत्महत्या कर चुका है. उसने ज़ोर-ज़ोर से रोना शुरू कर दिया. लेकिन सिपाही ने हार नहीं मानी. पहले उसने युवक को आवाज़ लगायी. जब कोई रिस्पांस नहीं मिला तो सिपाही ने लोहे की रॉड उठाकर उससे दरवाज़ा तोड़ना शुरू किया. हर पल के साथ ऐसा लग रहा था कि देर हो गयी. अंदर बंद युवक आत्महत्या कर चुका होगा. रॉड से गेट में जैसे ही छेद हुआ अंदर देखा तो युवक फांसी के फंदे पर लटका हुआ था. सिपाही ने फिर ज़ोर-ज़ोर से रॉड मारकर दरवाज़े की कुंडी तोड़ी और गेट खुलते ही लपक कर फांसी पर लटके युवक को उतारा.





बच गयी जान
तब तक घर में बुरी तरह चीख़-पुकार मच चुकी थी. सिपाही और घरवालों ने फौरन युवक के गले से फंदा निकाला और सोफे पर लिटाया. युवक ज़िंदा था. उसकी सांस चल रही थी. सिपाही इस युवक की जान बचा चुका था. फौरन उस पर पानी छिड़का युवक ने आंखें खोलीं...और इसी के साथ सिपाही और परिवार की सांस में सांस आयी. (भोपाल से रिपोर्टर जीतेन्द्र शर्मा का इनपुट)

ये भी पढ़ें-Honey Trap:कमलनाथ के मंत्री ने अफसरों को दी क्लीनचिट, बोले-महिलाओं ने फंसाया

Honey Trap: आरोपी के पति ने कहा, हां मेरी पत्नी के मंत्रियों से संबंध, लेकिन..
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज