लाइव टीवी

भोपाल: Lockdown में जरूरतमंदों की मदद कर रही ये 'Food Help App', ऐसे मांग और कर सकते हैं मदद...
Bhopal News in Hindi

Ranjana Dubey | News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 5:43 PM IST
भोपाल: Lockdown में जरूरतमंदों की मदद कर रही ये 'Food Help App', ऐसे मांग और कर सकते हैं मदद...
Lockdown में जरूरतमंदों की मदद कर रही ये 'Food Help App' (फाइल फोटो)

एप डेवलपर अजय राजपूत का कहना है कि बहुत से ऐस लोग हैं जो कि लोगडाउन पीरियड (Lockdown Period) में घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. उन तक मदद पहुंचाने के लिहाज से ही फूड हेल्प एप्लिकेशन नाम की एप तैयार की है.

  • Share this:
भोपाल. लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए स्टूडेंट्स ने फूड हेल्प एप्लीकेशन (Food Help Application) नाम से एक एप तैयार की है. एप के माध्यम से ये स्टूडेंट्स जरूरतमंद लोगों तक खाना, दवाइयां, कपड़े और हॉस्पिटल में जरूरत पड़ने पर ब्लड भी पहुंचा रहे हैं. यह एप्लिकेशन आरकेडीएफ यूनिवर्सिटी (RKDF University) के दो छात्रों अजय और श्रुति ने बनाई है. इसके साथ बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी, भाभा यूनिवर्सिटी और पीपुल्स यूनिवर्सिटी के कुछ वॉलिंटियर्स का भी इस एप को बनाने में योगदान है.

लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लए कंप्यूटर साइंस के दो छात्रों अजय राजपूत, श्रुति सोनी ने लोगों की मदद करने के लिए फूड एप्लीकेशन ऐप डेवलप किया है.

फूड हेल्प एप्लिकेशन में रिक्वेस्ट डालने पर पहुंचती है राहत
एप डेवलपर अजय राजपूत का कहना है कि बहुत से ऐस लोग हैं जो कि लोग डाउन पीरियड में घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. उन तक मदद पहुंचाने के लिहाज से ही फूड हेल्प एप्लिकेशन नाम की एप तैयार की है, इस एप के जरिए लोग अपना नाम, पता,जरूरत का सामान इस ऐप में भरते हैं. उसके बाद मोबाइल नंबर और एड्रेस की मदद से उन तक जरूरत का हर सामान पहुंचा दिया जाता है.



एप से फूड डोनर भी घर से ही कर रहे मदद


इस एप में फूड डोनर को भी शामिल किया गया है. लॉकडाउन में बहुत से लोग हैं जो गरीब लोगों की मदद तो करना चाहते हैं, लेकिन घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं. इस एप की सहायता से वे लोग भी अपने नाम, पता और मोबाइल नंबर के जरिए खाना देने की रिक्वेस्ट डालते सकते हैं. जिसके बाद हमारे वालंटियर उनके घर तक पहुंच कर उनसे तैयार भोजन कलेक्ट करते हैं और उसे जरूरतमंदों तक पहुंचाते हैं.

वॉलिंटियर्स सुबह से शाम तक लोगों तक पहुंचा रहे खााना
इस एप के जरिए रोजाना हजारों लोगों तक खाना पहुंचाया जा रहा है. सुबह 04 बजे से खाने की तैयारी की जाती है. वॉलिंटियर्स प्रीतम लकी, रोहित,शैलेंद्र, पंकज, जावेद और प्रियांशु के साथ टीम के 130 वॉलिंटियर्स भोजन तैयार करते हैं. छात्र अपनी किचन में रोजाना हजार लोगों का खाना महज 2 से 3 घंटे में तैयार करते हैं. सुबह 7 बजे से खाने की एप पर आई रिक्वेस्ट के बाद डिलीवरी शुरू की जाती है. वॉलिंटियर्स अपनी अपनी बाइक पर सवार होकर देर रात 12बजे तक लोगों के घरों तक खाना पहुंचाने का काम करते हैं. लॉकडाउन के पहले चरण से ही खाना पहुंचाने का काम चल रहा है. अब तक करीब 68,000 लोगों तक खाना पहुंचाया जा चुका है. शुरुआती दिनों में किचन में 3200 लोगों का खाना तैयार किया जाता था और अब रोजाना 1200 लोगों को खाना दिया जाता है. आगे भी इसी तरह से खाना पहुंचाने का काम जारी रहेगा.

एप से लोगों के मिल रहे राशन की भी हो रही मॉनिटरिंग
फूड हेल्प एप्लिकेशन में गरीब लोगों को दिए जा रहे हैं राशन की मॉनिटरिंग करने का भी ऑप्शन है. लोगों का आधार नंबर डालने के बाद इस बात की भी पड़ताल की जा रही है कि आखिर लोगों को राशन मिला है या नहीं. आधार नंबर डालने के साथ व्यक्ति का नाम, दिन, राशन मिलने का समय और कितना राशन दिया गया है इसकी पूरी डिटेल एप पर रहती है.

ये भी पढ़ें: जबलपुर: शुरू हुआ मध्य प्रदेश के सबसे बड़े ऐलिवेटिड फ्लाईओवर का निर्माण कार्य, 7 किलोमीटर होगी लंबाई
First published: May 20, 2020, 5:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading