Lok Sabha Election 2019 : हारे हुए दिग्गजों को दीपक बावरिया फॉर्मूला मंज़ूर नहीं
Bhopal News in Hindi

Lok Sabha Election 2019 : हारे हुए दिग्गजों को दीपक बावरिया फॉर्मूला मंज़ूर नहीं
दीपक बावरिया

बावरिया अपने बयान के कारण विवाद में पड़ते रहे हैं. चुनाव में बुजुर्ग नेताओं को टिकट नहीं मांगने की सलाह,पदाधिकारियों को पद छोड़ने पर टिकट देने और टिकट के लिए दावेदारों से 50 पचास हजार रुपए का आवेदन शुल्क लेने का फैसला है.

  • Share this:
विधानसभा चुनाव से पहले और चुनाव के दौरान अपने बयानों को लेकर विवाद में रहने वाले कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया ने पार्टी में अब नई बहस छेड़ दी है.लोकसभा चुनाव की तैयारी के सिलसिले में वो दो दिन पहले भोपाल में थे.

बावरिया ने साफ कहा था कि लोकसभा चुनाव में पार्टी 2018 के चुनाव में हारे चेहरों पर दांव लगाने से परहेज करेगी.बावरिया के मुताबिक हारने वालों को आगामी चुनाव में उतारना पार्टी के लिए मुश्किल भरा साबित हो सकता है.दीपक बावरिया के बयान से उन नेताओं के चुनाव लड़ने पर संकट खड़ा हो गया है जो विधानसभा चुनाव में बीजेपी से शिकस्त झेल चुके है. मसलन चुरहट से अजय सिंह, भोजपुर से पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, अमरपाटन से राजेंद्र कुमार सिंह, बुदनी से अरुण यादव.

ये भी पढ़ें - शिवराज चौहान बोले- यह मत सोचिए कि ‘मामा’ कमजोर हो गया



लोकसभा चुनाव के लिए दीपक बावरिया के फॉर्मूले को पीसीसी नेताओं ने खारिज कर दिया. उनका कहना है लोकसभा चुनाव में कौन सा चेहरा पार्टी के लिए मुफीद होगा, इसका फैसला पार्टी की इलेक्शन कमेटी करेगी.
ये भी पढ़ें - तो क्या ससुर की हार का बदला लेने के लिए बॉलीवुड छोड़ राजनीति में एंट्री करेंगी करीना कपूर?

ये पहला मौका नही है जब बावरिया अपने बयान के कारण विवाद में पड़े हों. चुनाव में बुजुर्ग नेताओं को टिकट नहीं मांगने की सलाह,पदाधिकारियों को पद छोड़ने पर टिकट देने और टिकट के लिए दावेदारों से 50 पचास हजार रुपए का आवेदन शुल्क लेना शामिल रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading