Home /News /madhya-pradesh /

इंजीनियर भाइयों के घर लोकायुक्त का छापा, घर में मिले 1 करोड़ नगद

इंजीनियर भाइयों के घर लोकायुक्त का छापा, घर में मिले 1 करोड़ नगद

इंजीनियर भाइयों के घर लोकायुक्त का छापा

इंजीनियर भाइयों के घर लोकायुक्त का छापा

इससे पहले मंगलवार को लोकायुक्त की टीम ने सिंचाई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के घर और दफ्तर पर छापा मारा था

मध्य प्रदेश में आज लगातार दूसरे दिन लोकायुक्त पुलिस की भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ कार्रवाई जारी है. टीम ने आज सागर और भोपाल में इंजीनियर भाइयों के घर पर छापा मारा. टीम ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के इंजीनियर आर के पांडेय और उनके भाई एन के पांडेय के घर कार्रवाई की. अब तक की कार्रवाई में करीब 1 करोड़  नगद रुपए घर से मिले हैं.
लोकायुक्त पुलिस ने कल भोपाल में सिंचाई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के बाद आज पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन के इंजीनियर आर के पांडेय और उनके भाई एन के पांडेय के घर दबिश दी. आय से अधिक संपत्ति के मामले में पांडेय बंधु जांच के दायरे में हैं. छापे की ये कार्रवाई सागर और भोपाल में एक साथ की गयी. सुबह 4 बजे टीम ने रेड मारी.
रिश्वत लेते पकड़े गए थे पांडेय - आर के पांडेय पूर्व में ₹50000 की रिश्वत लेते पकड़े जा चुके हैं.एनके पांडे के निवास पर भोपाल में और आर के पांडे के निवास पर सागर में एक साथ कार्रवाई की गयी.
दो दिन में दूसरी कार्रवाई- इससे पहले मंगलवार को लोकायुक्त की टीम ने सिंचाई विभाग के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर सुनील व्यास के घर और दफ्तर पर छापा मारा था. व्यास के भोपाल में 3 और सीधी में एक घर पर कार्रवाई की गयी थी. उनके भोपाल स्थित गुलमोहर, सहयोग बिहार और अरेरा कॉलोनी के घरों के साथ उनके बेटे के गोविंदपुरा स्थित ऑफिस में भी छापा मारा गया था.भोपाल के अलावा लोकायुक्त की टीम ने सीधी में उनके घर और सरकारी ऑफिस में भी छापेमार कार्रवाई की थी. छापे में करोड़ों की बेनामी संपत्ति, प्रॉपर्टी के दस्तावेज, बैंक अकाउंट और लॉकर्स की जानकारी मिली.

ये भी पढ़ें-जब मिले राजनीति के दो मंझे हुए खिलाड़ी... तो ऐसे बनी बात

वो जर्जर मकान टूटने का रास्ता साफ, हाईकोर्ट ने दिया ये आदेश

LIVE कवरेज देखने के लिए क्लिक करें न्यूज18 मध्य प्रदेशछत्तीसगढ़ लाइव टीवी


Tags: Bhopal, Madhya pradesh news, Raid, Sagar news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर