लाइव टीवी
Elec-widget

लोकायुक्त ने कृषि विभाग के संयुक्त संचालक को घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा

Jitendra Sharma | News18 Madhya Pradesh
Updated: December 1, 2019, 8:23 AM IST
लोकायुक्त ने कृषि विभाग के संयुक्त संचालक को घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा
डीएसपी संजय जैन ने कहा कि कृषि विभाग के संयुक्त संचालक के कार्यालय में मौजूद फाइलों की जांच पड़ताल की जा रही है.

जब लोकायुक्त की टीम कृषि विभाग (Agriculture Department) के संयुक्त संचालक (Joint Director) को रंगे हाथों पकड़ने पहुंची तब वह ऑफिस से भागने में कामयाब हो गया, मगर लोकायुक्त की दूसरी टीम उसके घर पर पहले से मौजूद थी. जैसे ही संयुक्त संचालक अपने घर पहुंचा उसे पकड़ लिया गया.

  • Share this:
भोपाल. लोकायुक्त (Lokayukt) ने कृषि विभाग (Agriculture Department) के संयुक्त संचालक (Joint Director) उत्तम सिंह जादौन को 2 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा (Arrested taking bribe). जब लोकायुक्त की टीम जादौन को रंगे हाथों पकड़ने पहुंची तब वह ऑफिस से भागने में कामयाब हो गया, मगर लोकायुक्त की दूसरी टीम उसके घर पर पहले से ही मौजूद थी. ऐसे में जैसे ही संयुक्त संचालक अपने घर पहुंचा पुलिस ने उसे धर दबोचा. अब लोकायुक्त की टीम उससे गहनता से पूछताछ कर रही है.

फरियादी ने रिश्वत मांगे जाने की शिकायत लोकायुक्त से की

बता दें कि कृषि विभाग का दफ्तर कलेक्टर कार्यालय परिसर में मौजूद है. इसी कृषि विभाग के ऑफिस में फरियादी मान सिंह राजपूत से खाद बीज कीटनाशकों के सैंपल में कोई कार्रवाई न करने के नाम पर उत्तम सिंह ने रिश्वत के रूप में पांच लाख रुपए की मांग की थी. इतना ही नहीं उसके संस्थान पर भविष्य में कोई कार्रवाई नहीं करने का उसे भरोसा भी दिया. फरियादी ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से की.

लोकायुक्त की दूसरी टीम ने पकड़ा

इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने फरियादी से 2 लाख रुपए रिश्वत राशि उत्तम सिंह जादौन को देने की बात कही. फरियादी उत्तम सिंह के पास पैसे लेकर पहुंचा और रिश्वत की राशि उसके हाथों में दी. इसी समय लोकायुक्त की टीम ने उसे पकड़ना चाहा, मगर वह अपने ऑफिस से भागने में कामयाब हो गया. वह अपने E-7 रेरा कॉलोनी वाले मकान पर पहुंचा, लेकिन यहां लोकायु्क्त पुलिस की दूसरी टीम ने उसे पकड़ लिया. उसके पास से रिश्वत की 2 लाख रुपए की राशि बरामद कर ली गई.

कृषि विभाग के संयुक्त संचालक के कार्यालय में जांच पड़ताल करते लोकायुक्त के अधिकारी


फरियादी की शिकायत पर भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत आरोपी के खिलाफ की गई है. लोकायुक्त टीम में डीएसपी संजय जैन, डीएसपी साधना सिंह, निरीक्षक उमा कुशवाह, वीके सिंह, मनोज पटवा सहित 10 सदस्य शामिल थे.
Loading...

ये भी पढ़ें - इन होनहार बेटियों ने मिटाया चंबल पर लगा दाग़, इलाके को दिलायी नयी पहचान

ये भी पढ़ें - कांग्रेस MLA की धमकी के जवाब में बोलीं प्रज्ञा ठाकुर- आ रही हूं, जला देना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 8:16 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...