लाइव टीवी

रिश्वतखोर नगर निगम कर्मचारी का पैंट उतरवाकर ले गयी लोकायुक्त पुलिस

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 30, 2020, 9:24 AM IST
रिश्वतखोर नगर निगम कर्मचारी का पैंट उतरवाकर ले गयी लोकायुक्त पुलिस
भोपाल में लोकायुक्त पुलिस ने रिश्वत लेते हुए क्लर्क को गिरफ्तार किया.

नगर निगम का आरोपी कर्मचारी एक ने विधवा से घूस लिए थे. लोकायुक्‍त पुलिस (Lokayukta Police) ने उसे मौके पर ही रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश की राजधानी में लोकायुक्त पुलिस (Lokayukta Police) ने एक बाबू की पैंट तक उतरवा ली. आरोपी कर्मचारी पर घूस लेने का आरोप है. जानकारी के मुताबिक, आरोपी बाबू एक विधवा से घूस के पैसे वसूल रहा था. महिला ने इसकी शिकायत लोकायुक्त पुलिस से कर दी थी. कर्मचारी ने जैसे ही पैसे लिए पहले से तैयार पुलिस ने उन्‍हें पकड़ लिया.

भोपाल लोकायुक्त से नगर निगम के एक कर्मचारी स्वर्गीय शेख मोहम्मद की पत्नी ने शिकायत की थी. महिला ने बताया था कि माता मंदिर स्थित नगर निगम दफ्तर का लेखा लिपिक शमीमुद्दीन उनके मरहूम पति के एरियर के बचे हुए डेढ़ लाख रुपए निकालने के लिए तीन हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा है. उन्होंने यह भी बताया कि शमीमुद्दीन एक हजार रुपए की रिश्वत ले चुका है. अब वह बाकी के दो हजार रुपए मांग रहा है.

रिकॉर्डिंग के आधार पर पकड़ा
महिला ने रिश्वत के लेन-देन के संबंध में हुई बातचीत फोन पर रिकॉर्ड कर ली थी. उसके आधार पर लोकायुक्त की टीम ने सबूत जुटाए, जिनके आधार पर लोकायुक्त की टीम ने नगर निगम कार्यालय में छापा मारा और शमीमुद्दीन को दो हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया.

आरोपी कर्मचारी की उतरवाई पैंट
लोकायुक्त टीआई मनोज पटवा ने बताया कि दिवंगत शेख मोहम्मद का बेटा शेख रिजवान रिश्वत के बाकी के दो हजार रुपए लेकर नगर निगम के दफ्तर पहुंचा. वहां लेखा लिपिक शमीमुद्दीन अपने केबिन में बैठा था. उसने रिजवान से रिश्वत लेकर अपने पैसे अपने पेंट की जेब में रख लिए. पहले से तैयार लोकायुक्त की टीम ने तत्काल घेराबंदी कर शमीमुद्दीन को पकड़ लिया. टीम ने सबसे पहले उसके हाथ को पानी से धुलवाया. उसके हाथ नोट में लगे पाउडर की वजह से गुलाबी हो गए. इसके बाद टीम ने शमीमुद्दीन की ग्रे कलर की पैंट उतरवायी और पेंट की जेब के उस हिस्से पर पानी डाला, जहां उसने रिश्वत के दो हजार रुपए रखे थे. पानी लगते ही वह हिस्सा भी गुलाबी हो गया. लोकायुक्त टीम ने बाबू की पैंट भी जब्त कर ली. लोकायुक्त टीम ने पैंट इसलिए ज़ब्त किया ताकि कोर्ट में इसे सबूत के तौर पर पेश किया जा सके.

नगर निगम का एक और कर्मचारी पकड़ा गयालोकायुक्त की दूसरी टीम ने एक अन्य शिकायत में ईदगाह हिल्स स्थित वार्ड नंबर दस के दफ्तर से नगर निगम के अर्ध कुशल श्रमिक बाबू मनोज जैन को पांच हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ्तार किया. लोकायुक्त पुलिस से कामिनी बाई सियोते के पड़ोसी सुनील सराठे ने लिखित में शिकायत की थी कि कामिनी बाई के बेटे की मौत हो गई थी. उन्होंने बेटे के मजदूरी कार्ड के आधार पर मध्य प्रदेश शासन की अंत्येष्टि एवं अनुग्रह योजना के तहत मिलने वाले 2 लाख 60 हजार रुपए के लिए आवेदन किया था. इस प्रकरण में पंचनामा रिपोर्ट लगाने के लिए बाबू मनोज जैन ने कामिनी बाई से 25 हजार रुपए रिश्वत मांगी थी. आरोपी मनोज जैन दस हजार रुपए रिश्वत ले चुका था.

ये भी पढ़ें-बुंदेलखंड पैकेज का पैसा भी खा गए अफसर, EOW की 100 से ज्यादा इंजीनियर्स पर नज़र

जहरीले सांप पकड़ने वाले सलीम खान जुआ खेलते गिरफ़्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2020, 8:09 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर