लाइव टीवी

कमलनाथ के मंत्री का शिवराज पर बड़ा आरोप, बोले- प्रदेश को गुमराह कर छिपाई खेती की दुर्दशा

Anurag Shrivastav | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 22, 2019, 5:14 PM IST
कमलनाथ के मंत्री का शिवराज पर बड़ा आरोप, बोले- प्रदेश को गुमराह कर छिपाई खेती की दुर्दशा
शिवराज सरकार ने लोगों को किया गुमराह- सचिन यादव

मध्‍य प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव (Agriculture Minister Sachin Yadav) ने पूर्व शिवराज सरकार (Shivraj Government) पर खेती की दुर्दशा के लिए हमला बोला है. इसके अलावा उन्‍होंने केंद्र सरकार पर भी पक्षपात का आरोप लगाया है.

  • Share this:
भोपाल. कांग्रेस सरकार ने पूर्व शिवराज सरकार (Shivraj Government) पर प्रदेश की जनता को गुमराह करने के लिए गलत आंकड़े पेश करने का बड़ा आरोप लगाया है. मध्‍य प्रदेश के कृषि मंत्री सचिन यादव (Agriculture Minister Sachin Yadav) ने बीते चार साल में राज्य की एग्रीकल्चर ग्रोथ रेट को बीस से चौबीस फीसदी बताने के बीजेपी सरकार के दावों पर पूरी तरह से फर्जी बताया है. उन्‍होंने आज बीते चार साल की एग्रीकल्चर ग्रोथ रेट (Agricultural Growth Rate) के आंकड़े पेश किए. कृषि मंत्री के मुताबिक साल 2013-14 की ग्रोथ रेट 1.3, 2015-16 में -4.1, 2017-18 में 0.1 फीसदी रहा है. कृषि मंत्री ने कहा कि पुरानी सरकार ने प्रदेश के खेती और किसानों की दुर्दशा छिपाने के लिए गलत आंकड़े पेश किए. जबकि हमारी सरकार अब पूरे मामले की जांच कराएगी. हालांकि इस साल की कृषि विकास दर की रिपोर्ट सरकार ने जारी नहीं की है.

कृषि विकास मंत्री सचिन यादव ने किया ये दावा
पीसीसी में कांग्रेस सरकार में कृषि विभाग के एक साल का ब्यौरा देते हुए कृषि विकास मंत्री सचिन यादव ने दावा किया है कि सरकार ने अब तक बीस लाख किसान का कर्ज माफ किया है और अब किसानों को कर्जमुक्त बनाने के लिए जल्द ही कर्ज माफी का दूसरा चरण शुरु करेगी, जिसमें बारह लाख किसान शामिल होंगे. कृषि मंत्री ने प्रदेश में बारिश और बाढ़ से 55 लाख किसानों की 60 लाख हेक्टेयर में फसलें खराब होने और इसके लिए केंद्र सरकार से 6621.28 करोड़ रुपए की मांग को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया है.

केंद्र सरकार पर लगाया ये आरोप

कृषि मंत्री ने खरीफ 2019 के फसल बीमा के राज्य का अंश 509.60 करोड़ का भुगतान बीमा कंपनियों को करने की बात कही है. जबकि केंद्र पर हमला बोलते हुए कहा है कि पूर्व बीजेपी सरकार ने प्रदेश के साथ बड़ा कुठाराघात करते हुए बीमा कंपनियों को रबी सीजन 2017-18 में 165 करोड़, खरीफ 2018 में 1772 करोड़ तथा रबी सीजन 2018-19 में राशि 424 करोड़ रुपए समेत कुल 2301 करोड़ का भुगतान नहीं किया. साथ ही फसल बीमा का खरीफ 2019 का केंद्र का हिस्सा केंद्र की भाजपा सरकार ने नहीं दिया है. कृषि मंत्री ने केंद्र पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए भावांतर भुगतान की राशि भी रोकने का आरोप लगाया है.

ये भी पढ़ें-

CEO प्रेरणा सिंह ने पेश की मिसाल, ढाई साल की बेटी का आंगनवाड़ी में कराया दाखिला
Loading...

NHP की रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, पुरुषों के मुकाबले महिलाओं पर कम खर्च कर रही है सरकार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 5:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...