MP विधानसभा में फर्जीवाड़ा: कांग्रेस MLA के फर्जी साइन से कर दिया ये काम, जांच में खुलासा
Bhopal News in Hindi

MP विधानसभा में फर्जीवाड़ा: कांग्रेस MLA के फर्जी साइन से कर दिया ये काम, जांच में खुलासा
कांग्रेस विधायक ने मामले की शिकायत पुलिस से की है.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) विधानसभा में कांग्रेस विधायक (Congress MLA) के फर्जी साइन करने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर ली है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा (Assembly) में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है. कांग्रेस विधायक (Congress MLA) का फर्जी साइन कर प्रश्न लगाया गया. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर ली है. आरोपी की तलाश की जा रही है. घनश्याम सिंह दतिया सेवड़ा से कांग्रेस विधायक हैं. उनका फर्जी हस्ताक्षर कर उनके नाम से विधानसभा में ध्यानाकर्षण प्रश्न लगाया गया था. पुलिस के पास मामले की शिकायत के बाद मामले की प्राथमिक जांच की गई. उसके बाद अरेरा थाने में एफआईआर दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है.

विधायक घनश्याम सिंह के फर्जी हस्ताक्षर कर दतिया की शासकीय भूमि पर अतिक्रमण से संबंधित प्रश्न पूछा गया था.फर्जीवाड़ा का पता चलने पर उन्होंने विधानसभा सचिव से शिकायत की. शिकायत की विधानसभा स्तर पर जांच की गई. जांच में पाया गया कि जो प्रश्न घनश्याम सिंह की तरफ से लगाना बताया जा रहा है. वह उनके फर्जी साइन के जरिए लगाया गया है. इस जांच के बाद विधानसभा ने पुलिस को आगे की कार्रवाई के लिए पत्र लिखा. पुलिस ने विधानसभा की जांच रिपोर्ट के आधार पर अज्ञात आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की.

फर्जी प्रश्न पर जुटाई गई थी जानकारी
घनश्याम सिंह के फर्जी प्रश्न पर संबंधित विभाग से जानकारी जुटाई गई थी. जानकारी जुटाकर प्रश्न का उत्तर तैयार किया गया था, जो फर्जी साइन के जरिए प्रश्न लगाया गया था. वह ध्यानाकर्षण प्रश्न दतिया के सिविल लाइन थाने के सामने शासकीय भूमि पर अतिक्रमण को लेकर था. इसमें सिल्लम साहू और बबलू यादव पर शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने का आरोप लगाया था. घनश्याम सिंह को इस तरीके की जानकारी की कोई जरूरत नहीं थी. उन्होंने कभी इस संबंध में प्रश्न नहीं लगाया. साथ ही स्थानीय स्तर पर भी अधिकारियों से इसकी जानकारी नहीं ली. अब इस बात की जांच की जा रही कि आखिरकार इस प्रश्न के जरिए इस तरीके की जानकारी अज्ञात आरोपी हासिल के के क्‍या करना चाहता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज