MP उपचुनावः 'सिंधिया से नाराज' नेताओं को मनाने में लगी BJP, इस दिग्गज के घर पहुंचे वीडी शर्मा
Bhopal News in Hindi

MP उपचुनावः 'सिंधिया से नाराज' नेताओं को मनाने में लगी BJP, इस दिग्गज के घर पहुंचे वीडी शर्मा
एमपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने ग्वालियर में जयभान सिंह से मुलाकात की.

MP By Election: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में विधानसभा उपचुनाव से पहले बीजेपी (BJP) के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (VD Sharma) ने ग्वालियर पहुंचकर वहां के नाराज माने जा रहे पार्टी नेताओं से मुलाकात की है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (MP By Election) से पहले बीजेपी (BJP) घर के रूठों को मनाने की हर संभव कोशिश में जुटी है. गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के बाद अब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (VD Sharma) ने ग्वालियर पहुंचकर वहां के नाराज माने जा रहे नेताओं से मुलाकात की है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ग्वालियर में पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया के घर पहुंचे. दोनों नेताओं के बीच बंद कमरे में करीब घंटे भर तक मुलाकात हुई. यह माना जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान बीजेपी प्रदेश संगठन की ओर से जय भान सिंह पवैया की नाराजगी को दूर करने की कोशिश की गई इससे पहले गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने भी ग्वालियर पहुंचकर जय भान सिंह पवैया, अनूप मिश्रा, माया सिंह जैसे नाराज नेताओं से मुलाकात की थी.

हालांकि जय भान सिंह पवैया से मुलाकात के बाद वीडी शर्मा ने कहा है कि जयभान सिंह से नाराजगी जैसी कोई बात नहीं है. बीजेपी संगठन में मेल मुलाकात होती रहती है, लेकिन राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा जोर-शोर से है कि ग्वालियर में सिंधिया समर्थक नेताओं के बीजेपी में शामिल होने के बाद पार्टी के कई नेता नाराज चल रहे हैं. उनमें से एक जय भान सिंह पवैया भी हैं.

क्यों गए वीडी शर्मा जयभान के घर?
दरअसल, कुछ दिन पहले बीजेपी ने ग्वालियर चंबल संभाग में 3 दिन तक मेगा सदस्यता अभियान चलाया था. इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत बीजेपी के तमाम दिग्गज शामिल हुए थे. इसी दौरान जय भान सिंह पवैया ने एक ट्वीट कर सियासी गलियारों में हलचल मचा दी थी. उन्होंने सांप का उदाहरण देते हुए लिखा था कि सांप के दो जीभ होती हैं, लेकिन वह इंसान हैं और अपने विचार और आदर्शों पर आज भी अडिग हैं. उनके इस ट्वीट को सीधे तौर पर उनकी नाराजगी से जोड़कर देखा गया. क्योंकि सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने से पहले तक जय भान सिंह पवैया बीजेपी में उनके सबसे मुखर विरोधी माने जाते थे.
सबसे अहम ग्वालियर-चंबल


मध्य प्रदेश में आने वाले वक्त में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिहाज से ग्वालियर चंबल संभाग सबसे अहम है. क्योंकि 27 में से सबसे ज्यादा 16 सीट इसी संभाग से हैं. ग्वालियर चंबल ज्योतिरादित्य सिंधिया का कांग्रेस में रहते हुए गढ़ माना जाता था और बीजेपी के नेता उनकी मुखालफत करते थे. लेकिन अब जबकि सिंधिया बीजेपी में शामिल हो गए हैं. लिहाजा संभाग में सिंधिया विरोधी बीजेपी नेताओं के सामने सियासी भविष्य का खतरा भी खड़ा हो गया है और सवाल ये कि क्या बीजेपी के नेता उन्हीं नेताओं को जिताने के लिए काम करेंगे जिनकी वजह से इन्हें विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज