मप्र विधानसभा का बजट सत्र: राज्यपाल ने कहा- जनता के हित के लिए सरकार ने कई कदम उठाए

मध्य प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र में विपक्ष सरकार को घेरेगा . (फाइल फोटो)

मध्य प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र में विपक्ष सरकार को घेरेगा . (फाइल फोटो)

मप्र विधानसभा का बजट आज से शुरू हो गया. 4 बार के विधायक रहे गिरीश गौतम को निर्विरोध अध्यक्ष चुन लिया गया. सीएम ने प्रस्ताव दिया और कमलनाथ सहित सभी ने इसे स्वीकार कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 2:01 PM IST
  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) का बजट सत्र (Budget Session) सोमवार से शुरू हो गया. सत्र के दौरान राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने अभिभाषण दिया. राज्यपाल के अभिभाषण के बाद विधानसभा की कार्रवाई मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई. उन्होंने कहा- सरकार ने विषम परिस्थितियों में कार्यभार संभाला था. वह दौर कोरोना महामारी का था. आर्थिक स्थिति खराब थी. सरकार ने इस चुनौती का सामना किया. पीएम मोदी के नेतृत्व में सरकार ने कोरोना से लोगों की रक्षा की. कोविड पीड़ितों के उपचार के लिए पर्याप्त संसाधन चुनौती थी. टेस्टिंग लैब की संख्या, ऑक्सिजन बैड की संख्या बढ़ाई गई. बीते 11 महीने में अस्पताल प्रबंधन पर खास ध्यान दिया गया.

राज्यपाल ने कहा - लॉक डाउन के दौरान प्रवासी श्रमिकों के लिए सरकार की ओर से व्यवस्था की गई. सीएम प्रवासी योजना के जरिये 1 लाख 55 हज़ार श्रमिकों को राशि भेजी गई. श्रम सिद्धि अभियान से रोजगार मुहैया कराए गए. इस बीच राज्यपाल ने कोरोना योद्धाओं श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने कहा- एमपी ने सबसे पहले आत्म निर्भर एमपी का रोडमैप तैयार किया. सीएम हेल्पलाइन से लोगों को कई सुविधाएं दी जा रही हैं. सुशासन की संकल्पना के लिए भूमाफियाओं के खिलाफ कार्रवाई की गई. 3 हज़ार एकड़ से ज्यादा भूमि मुक्त कराई गई. चिटफंड कंपनियों से भी लोगों को राशि वापस कराई गई. सरकार ने धर्म स्वतंत्र विधेयक पारित किया है. अगवा बेटियों को बचाने का अभियान चलाया गया. माफिया के विरुद्ध अभियान जारी रहेगा. किसानों को बिजली उपलब्धता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है.

5 हजार से ज्यादा सड़कों का निर्माण किया गया

विधानसभा में राज्यपाल ने बताया कि कृषि कार्य के लिए 22 लाख उपभोक्ताओं को फ्लैट रेट पर बिजली दी जा रही है. नवकरणीय ऊर्जा में 10 गुना वृद्धि हुई है. आगर, शाजापुर, नीमच में सोलर परयोजना शुरू की गई हैं. सड़कों के नेटवर्क के सुधार का काम तेजी से किया जा रहा है. राज्यपाल ने कहा- 1 हज़ार 700 किमी से ज्यादा सड़कों का नवीनीकरण किया गया है. 2021-22 में 5 हज़ार किमी से ज्यादा सड़को का निर्माण किया जाएगा. स्वच्छ भारत मिशन में प्रदेश को तीसरा स्थान मिला. 2 करोड़ 7 लाख से ज्यादा आयुष्मान कार्ड सत्यापित किए गए. 1 लाख 80 हज़ार से ज्यादा लाडलियों को छात्रवृत्ति दी गई.
निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने गए गिरीश गौतम

इससे पहले सत्र की शुरुआत अध्यक्ष पद के निर्वाचन के लिए से हुई.  4 बार विधायक रहे गिरीश गौतम निर्विरोध विधानसभा अध्यक्ष चुने गए.  गिरीश गौतम के निर्वाचन के लिए सीएम शिवराज समेत 11 विधायक प्रस्तावक बने. गृह मंत्री नरोत्तम ने भी प्रस्ताव का समर्थन किया. इसके बाद मंत्री विश्वास सारंग, अरविंद भदौरिया, सीताशरण शर्मा, नागेंद्र सिंह, राजेन्द्र शुक्ल, रामपाल सिंह, विष्णु खत्री, ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह, कृष्णा गौर, पंचूलाल प्रजापति, रघुनाथ सिंह मालवीय, दिव्यराज सिंह, सुरेंद्र पटवा, प्रदीप पटेल, लीना संजय जैन, के पी त्रिपाठी, कमल पटेल, विजय पाल सिंह ने भी प्रस्ताव का समर्थन किया.

कमलेश्वर पटेल ने सीएम को टोका



इस दौरान सीएम शिवराज ने रामेश्वर शर्मा को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने नया रिकॉर्ड बनाया है. उनका नाम गिनीज बुक में लिखा जाएगा. कोरोना की वजह से सदन की नियमित बैठक नहीं हो सकी. गिरीश गौतम सदन के वरिष्ठ सदस्य हैं. ज़मीन से जुड़े हुए खांटी नेता रहे हैं, इनका अनुभव हमारे काम आएगा. इस बीच कमलेश्वर पटेल ने सीएम शिवराज को संबोधन के दौरान टोका. कमलेश्वर पटेल ने बस हादसे का मुद्दा उठाया. लेकिन, अध्यक्ष ने कमलेश्वर पटेल को यह कहकर रोक दिया कि आपको बोलने का मौका समय पर दिया जाएगा.

सीएम ने किया लिफ्ट की घटना का जिक्र, टेक्निकल समिति बनाने का ऐलान

सीएम शिवराज ने इंदौर में कल की घटना का जिक्र किया. कहा- मैने लिफ्ट दुर्घटना की जांच के निर्देश दिए हैं. हम सब चाहते हैं कि नेता प्रतिपक्ष जी स्वास्थ्य रहें. लोकतंत्र में मतभेद हो सकते हैं मनभेद नहीं होना चाहिए. हम ऐसी व्यवस्था बना रहे हैं कि लिफ्ट में चढ़ने से पहले सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता रहे. इस बीच कमलनाथ ने सीएम शिवराज को धन्यवाद दिया कि सीएम ने एक घण्टे में जांच के आदेश दिए. उन्होंने कहा कि मैं इसके लिए उन्हें धन्यवाद देता हूं. ये घटना तो गुजर गई, आगे ऐसा न हो इसके लिए टेक्निकल समिति बनाकर काम करना चाहिए. इसके बाद सीएम शिवराज ने सदन में ऐलान किया कि लिफ्ट के मामले देखने के लिए टेक्निकल समिति बनाई जाएगी.

सदन शासन का नहीं, विपक्ष का है- कमलनाथ

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी गिरीश गौतम का समर्थन किया. उन्होंने कहा- कल की दुर्घटना के बाद आज मेरा आना मुश्किल था. लेकिन, आपके और सदन के सम्मान में मेरा यहां रहना आवश्यक है. मैं अध्यक्ष जी को बधाई देता हूं. मैं प्रोटेम स्पीकर को भी इतने लंबे सफर के लिए बधाई देता हूं. मैं पूर्व स्पीकर एनपी प्रजापति जी को भी धन्यवाद देता हूं, क्योंकि उन्हें बधाई देने का मौका नहीं मिला. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- ये सदन शासन का नहीं विपक्ष का है. क्योंकि, शासन का तो मंत्रालय होता है. एमपी विधानसभा देश के लिए उदहारण बने हम सब ऐसा चाहते हैं. सदन केवल आलोचना का नहीं होता. सदन की कार्यवाही में विपक्ष को मौका मिलेगा हम अध्यक्ष जी से उम्मीद करते हैं.

साइकल से विधानसभा पहुंचे पीसी शर्मा, जीतू पटवारी, कुणाल चौधरी

बजट सत्र के पहले दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के विरोध में पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, जीतू पटवारी और कुणाल चौधरी साइकल से मध्य प्रदेश विधानसभा तक पहुंचे. वहीं, नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने सदन चलने को लेकर विधानसभा स्थित अपने कक्ष में विधायकों से चर्चा की. इधर, सत्र से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ से मुलाकात कर हालचाल जाना.

2 मार्च को बजट

सर्वदलीय बैठक के दौरान बजट की तारीख को लेकर भी चर्चा की गई. बैठक के बाद गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बजट 2 मार्च को पेश किया जाना प्रस्तावित है. इससे पहले यह कयास लगाया जा रहा था कि बजट सत्र 22 फरवरी से शुरू हो रहा है और बजट विधानसभा में 26 फरवरी को पेश किया जा सकता है. लेकिन गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, बजट 26 फरवरी को पेश न होकर अब 2 मार्च को पेश किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज