मध्य प्रदेश में कांग्रेस के स्टार प्रचारक होंगे सचिन पायलट, सोनिया गांधी नहीं करेंगी प्रचार

कांग्रेस की जारी स्टार प्रचारकों की सूची में राहुल-प्रियंका समेत 30 नेताओं के नाम शामिल हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर)
कांग्रेस की जारी स्टार प्रचारकों की सूची में राहुल-प्रियंका समेत 30 नेताओं के नाम शामिल हैं (प्रतीकात्मक तस्वीर)

मध्य प्रदेश की जिन 28 सीटों पर उपचुनाव (MP Assembly By Election 2020) कराए जा रहे हैं उनमें से 16 सीटें अकेले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में आती हैं. सभी विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को वोटिंग (Voting) होगी और 10 नवंबर को चुनाव के नतीजे आएंगे

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 9:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मध्य प्रदेश उपचुनाव (MP Assembly By Election 2020) के लिए कांग्रेस ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची (Congress Star Campaigners List) जारी कर दी है. शनिवार शाम को जारी इस लिस्ट में कांग्रेए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत तीस नेताओं के नाम शामिल हैं. बता दें कि कोरोना महामारी (Corona Virus) को देखते हुए चुनाव आयोग ने सभी राजनीतिक दलों को अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट छोटी रखने की सलाह दी गई है. जिसके तहत राष्ट्रीय पार्टियों के स्टार प्रचारकों की अधिकतम संख्या तीस है.

मध्य प्रदेश उपचुनाव में कांग्रेस के यह नेता होंगे स्टार प्रचारक
राहुल गांधी
प्रियंका गांधी
मुकुल वासनिक
कमलनाथ


अशोक गहलोत
भूपेश बघेल
दिग्विजय सिंह
नवजोत सिंह सिद्धू
सचिन पायलट
अशोक चव्हाण
रणदीप सुरजेवाला
कांतिलाल भूरिया
सुरेश पचौरी
अरुण यादव
विवेक तंखा
राजमणि पटेल
अजय सिंह
आरिफ अकील
सज्जन सिंह वर्मा
जीतू पटवारी
जयवर्धन सिंह
प्रदीप जैन
लाखन सिंह यादव
गोविंद सिंह
नामदेव दास त्यागी
आचार्य प्रमोद कृष्णा
साधना भारती
आरिफ मसूद
सिद्धार्थ कुशवाहा
कमलेश्वर पटेल

मध्य प्रदेश उपचुनाव के लिए कांग्रेस द्वारा जारी की गई स्टार प्रचारकों की सूची


3 नवंबर को डाले जाएंगे वोट, 10 नवंबर को होगी मतगणना

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को वोटिंग होगी और 10 नवंबर को चुनाव के नतीजे आएंगे. इसी दिन बिहार विधानसभा चुनाव का भी रिजल्ट घोषित होगा.

बता दें कि इसी साल मार्च में कांग्रेस के 25 विधायक पाला बदलकर बीजेपी में शामिल हो गए थे. जिससे कांग्रेस की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी और राज्यपाल के सदन में बहुमत परीक्षण करवाने के निर्देशों से पहले ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया था. वहीं तीन अन्य विधायकों के आकस्मिक निधन के चलते उन सीटों पर उपचुनाव करवाया जा रहा है. इन 28 सीटों में से 16 सीटें अकेले ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में आती हैं जहां कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए ज्योतिरादित्य सिंधिया की पकड़ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज