'आइटम' बयान पर राहुल गांधी नाराज, लेकिन फिर भी माफी नहीं मांगेंगे कमलनाथ

कमलनाथ ने स्पष्ट कर दिया है कि वो इमरती देवी पर दिए गए अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगेंगे (फोटो: ANI)
कमलनाथ ने स्पष्ट कर दिया है कि वो इमरती देवी पर दिए गए अपने बयान के लिए माफी नहीं मांगेंगे (फोटो: ANI)

कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा कि यह राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के विचार हैं. मैं इस संबंध में पहले ही स्पष्ट कर चुका हूं कि मैंने अपना बयान किस संदर्भ में दिया था. जब मेरा इरादा किसी का अपमान करने का नहीं था, तो फिर मैं माफी क्यों मांगूं? उन्होंने कहा कि यदि मेरे बयान से किसी की भावना को ठेस पहुंची हो तो मैं पहले ही खेद प्रकट कर चुका हूं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 5:26 PM IST
  • Share this:
भोपाल. पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के सीनियर लीडर कमलनाथ (Kamalnath) अब भी यह मानते हैं कि उन्होंने बयान देकर उन्होंने कोई गलती नहीं की है. यही वजह है कि मंगलवार को राहुल गांधी (Rahul Gandhi) द्वारा इसे लेकर अपनी नाराजगी जताने के बाद भी उन्होंने माफी मांगने से इनकार कर दिया है. कमलनाथ ने कहा कि यह राहुल गांधी के विचार हैं. मैं इस संबंध में पहले ही स्पष्ट कर चुका हूं कि मैंने अपना बयान किस संदर्भ में दिया था. जब मेरा इरादा किसी का अपमान करने का नहीं था, तो फिर मैं माफी क्यों मांगूं?

उन्होंने कहा कि यदि मेरे बयान से किसी की भावना को ठेस पहुंची हो तो मैं पहले ही खेद प्रकट कर चुका हूं.
इससे पहले, मंगलवार को ही कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कमलनाथ के बयान पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए कहा, 'कमलनाथ जी हमारी पार्टी से हैं, लेकिन व्‍यक्तिगत तौर पर मैं ऐसी भाषा को पसंद नहीं करता हूं. मैं इस तरह की भाषा को कभी बढ़ावा नहीं देता, फिर चाहे वह कोई भी क्‍यों न हो. यह दुर्भाग्‍यपूर्ण है.'डबरा में चुनावी सभा में मंच से इमरती देवी को कहा था 'आइटम'दरअसल रविवार को ग्वालियर के डबरा में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री की जुबान फिसल गई थी. उन्होंने यहां से बीजेपी की उम्मीदवार इमरती देवी को तंज भरे लहजे में 'आइटम' कहकर संबोधित किया था. कमलनाथ ने मंच से अपने भाषण में कहा था कि 'सुरेंद्र राजेश हमारे उम्मीदवार हैं, सरल स्वभाव के सीधे-साधे हैं. यह उसके जैसे नहीं है, क्या है उसका नाम? मैं क्या उसका नाम लूं आप तो उसको मुझसे ज्यादा अच्छे से जानते हैं, आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था, 'यह क्या आइटम है.'

इमरती देवी समेत 22 कांग्रेस के MLA इस्तीफा देकर BJP में हुए थे शामिल
बता दें कि इसी साल मार्च में इमरती देवी समेत कांग्रेस के 22 विधायक पाला बदलकर बीजेपी में शामिल हो गए थे. जिससे कांग्रेस की कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी और राज्यपाल के सदन में बहुमत परीक्षण करवाने के निर्देशों से पहले ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफा दे दिया था.



मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होने हैं. जबकि वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज