BJP में शामिल हुए राहुल लोधी, भड़की कांग्रेस ने कहा- मामा के झोले की काली कमाई में एक और विधायक बिका

बीजेपी में शामिल हुए राहुल लोधी.
बीजेपी में शामिल हुए राहुल लोधी.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (By-election) में प्रचार प्रसार के बीच बड़ी सियासी हलचल रविवार को हुई. कांग्रेस (Congress) की टिकट पर दमोह से विधायक राहुल लोधी (Rahul Lodhi) ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (By-election) में प्रचार प्रसार के बीच बड़ी सियासी हलचल रविवार को हुई. कांग्रेस (Congress) की टिकट पर दमोह से विधायक राहुल लोधी (Rahul Lodhi) ने विधायकी से इस्तीफा दे दिया. इतना ही नहीं राहुल लोधी ने विरोध दल बीजेपी (BJP) का दामन भी थाम लिया है. इसके बाद एमपी में कांग्रेस के नेता भड़क गए हैं. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रदेश में विधायकों की खरीद-फरोख्त हो रही है. कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने कहा कि उपचुनाव में हार के डर से बीजेपी विधायकों की खरीद फरोख्त कर रही है.

कांग्रेस विधायक ने कहा कि प्रदेश में लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या हो रही है. सभी सीटों पर जनता दल बदलने वालों को देगी मुंहतोड़ जवाब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया है. राहुल लोधी के इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल होने पर दिग्विजय सिंह ने तंज कसा है. दिग्विजय ने ट्विटर पर लिखा- 'मामा के झोले की काली कमाई में एक और विधायक बिका.' लगता है भाजपा में असली भाजपाइयों से अधिक बिके हुए ग़द्दार कांग्रेसी मामा भर देगा.' मुझे उन ईमानदार संघ व भाजपा के कार्यकर्ताओं पर दया आती है, जिन्होंने भाजपा को यहां तक पहुंचाया. जयंत मलैया जी कहां हैं?'


लोधी ने कहा विचारधारा खत्म हो गई
मध्य प्रदेश में उपचुनाव के पहले कांग्रेस छोडकर बीजेपी में जाने वाले पूर्व विधायक राहुल लोधी ने न्यूज़ 18 से कहा कि कांग्रेस में विचारधारा ख़त्म हो गई है. राष्ट्रीय अध्यक्ष कुछ बोलते हैं प्रदेश अध्यक्ष कुछ बोलते हैं. मेडिकल कॉलेज दमोह के लिये मांगा था, मिल गया. मैंने जनता से विकास पर वोट मांगे थे. बीजेपी की सरकार आते ही हर योजना में लाभ हो रहा है. कमल नाथ से बात की थी, कुछ बोले होते तो दमोह में मेडिकल कॉलेज नहीं होता.





प्रोटर्म स्पीकर को सौंपा इस्तीफा
बता दें कि रविवार को कांग्रेस विधायक राहुल लोधी ने भोपाल ​में विधानसभा पहुंच कर प्रोटर्म स्पीकर रामेश्वर शर्मा को इस्तीफ़ा सौंपा. इससे कांग्रेस के विधानसभा में सदस्यों की संख्या में और कमी आ गई है. अब 230 सदस्यों के सदन में कांग्रेस के 87, बीजेपी के 107 सदस्य हैं. 28 सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव हो रहे हैं. जिन सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, वो सभी 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के खाते में थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज