MP By-Election: बीजेपी-कांग्रेस के लिए सत्ता की चाबी साबित हो सकती हैं महिला वोटर्स

एमपी के उपचुनाव में महिला वोटर्स की भूमिका महत्वपूर्ण मानी जा रही है.
एमपी के उपचुनाव में महिला वोटर्स की भूमिका महत्वपूर्ण मानी जा रही है.

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 28 सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव (By-Election) में महिला वोटर प्रत्याशियों की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 28 सीटों पर होने जा रहे उपचुनाव (By-Election) में महिला वोटर प्रत्याशियों की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं. साल 2013 के मुकाबले साल 2018 में महिलाओं के वोट प्रतिशत में चार फीसदी का इजाफा हुआ था. यानी पुरुषों के बराबर महिलाएं अपने मताधिकार का प्रयोग करती हैं. महिला वोटर्स को साधकर ही प्रत्याशियों और पार्टियों की चुनावी नैया पार हो सकती है. जीत के लिए भाजपा और कांग्रेस के साथ दूसरी पार्टियां महिला प्रत्याशियों को साधने में जुटी हुई हैं. उपचुनाव में सीधा मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशियों के बीच ही होता नजर आ रहा है.

साल 2018 में हुए चुनाव में महिला मतदाता बढ़-चढ़कर मतदान करने के लिए मतदान केंद्र तक पहुंची थी. 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में 10 सीटों जौरा, ग्वालियर पूर्व, ग्वालियर, मेहगांव, दिमनी,अनूपपुर, मांधाता, नेपानगर, सुवांसरा, पोहरी में महिला वोटर्स निर्णायक साबित हुई थीं. सुवासरा में महिलाओं का वोट प्रतिशत सबसे ज्यादा 80.28 फीसदी रहा था.

इन सीटों पर भी रही भूमिका
साल 2018 के चुनाव में नेपानगर 70.94फीसदी, मांधाता 77.60फीसदी, अनुपूपुर 75.36फीसदी, पोहरी74.04 फीसदी, जौरा71.73, दिमनी 68.70 फीसदी रहा था. 2018 में ब्यावरा में प्रदेश भर में सबसे ज्यादा 50.75 फीसदी मतदान हुआ था. उपचुनाव वाले विधानसभा क्षेत्रों के लिहाज से दूसरे नंबर पर हाट पिपलिया रहा था. यहां 50.38 फ़ीसदी वोट पड़े थे. महिलाओं के बढ़े हुए वोट प्रतिशत के चलते भाजपा और कांग्रेस दोनों ही दलों ने महिला वोटर्स का भरोसा जीतने के लिए महिला विंग को मैदान में उतारा है.




बढ़ा वोट प्रतिशत
साल 2018 में महिलाओं का वोट प्रतिशत साल 2013 के मुकाबले 4 फ़ीसदी बढ़ा था. 20 लाख से ज्यादा महिला मतदाताओं ने भाजपा के पक्ष में वोट किया था. साल 2018 के ट्रेंड को देखे तो बड़े हुए वोट प्रतिशत का फायदा कांग्रेस को मिला था. उपचुनाव में इन 10 सीटों पर जो भी दल भाजपा कांग्रेस या बसपा महिला प्रत्याशियों को मतदान केंद्र तक ले जाने में सफल होगा. जीत के लिए फायदा उसी पार्टी को होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज