बंद रहा मध्य प्रदेश : कहीं जनता ने किया पथराव तो कहीं पुलिस ने बरसायीं लाठियां

भोपाल में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के बंगले का घेराव करने की कोशिश की. हालांकि पुलिस ने उन्हें समझाकर वापस कर दिया. विदिशा में विधायक कल्याण सिंह के घर का घेराव किया गया.

News18 Madhya Pradesh
Updated: September 6, 2018, 8:40 PM IST
बंद रहा मध्य प्रदेश : कहीं जनता ने किया पथराव तो कहीं पुलिस ने बरसायीं लाठियां
मध्य प्रदेश बंद रहा
News18 Madhya Pradesh
Updated: September 6, 2018, 8:40 PM IST
सवर्ण आंदोलन के तहत गुरुवार को मध्य प्रदेश में बंद का खासा असर रहा.  शहडोल और उज्जैन के जाटनी गांव में कुछ तनाव रहा. रीवा और अशोक नगर में प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर उतर आए. कई जगह पुलिस पर पथराव भी हुआ. लेकिन कहीं से भी किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं है.

बंद को देखते हुए  पुलिस हाई अलर्ट पर रही. CM हाउस, बीजेपी कार्यालय,मंत्रालय और गृह मंत्री के बंगले पर सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम थे.  प्रदेश के ज़्यादातर ज़िलों में धारा 144 लागू रही. कंट्रोल रूम से सुरक्षा व्यवस्था की लगातार मॉनिटरिंग की गयी.  बंद को देखते हुए पूरे प्रदेश में की एसएएफ की 34 कंपनियां और 6,000 नव आरक्षक तैनात किए गए थे.

भोपाल में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के बंगले का घेराव करने की कोशिश की. हालांकि पुलिस ने उन्हें समझाकर वापस कर दिया.  विदिशा में विधायक कल्याण सिंह के घर का घेराव किया गया.

ग्वालियर चंबल संभाग में 2 अप्रैल को हिंसक प्रदर्शन से सहमी सरकार और पुलिस इस बार सतर्क रही. यहां प्रदर्शन तो हुआ लेकिन हालात काबू में रहे. भिंड में पुलिस ने बीजेपी विधायक नरेंद्र सिंह कुशवाह के बेटे पुष्पेंद्र सिंह को हिरासत लिया तो उनके समर्थकों ने थाने का घेराव कर दिया. यहां पुलिस पर पथराव भी किया गया.  अशोक नगर में कार्यकर्ता रेलवे ट्रैक पर उतर आए. मुरैना में पुलिस दिमनी सरकारी स्कूल के सामने धरने पर बैठे आंदोलन कारियों को हटाने गई थी, उस दौरान दोनों में झड़प हो गयी.

रीवा में  रेल्वे स्टेशन पर उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. उपद्रवियों को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठी चार्ज कर दिया. उपद्रवियों ने अपर कलेक्टर की बोलेरो गाड़ी मे तोड़फोड़ कर दी.  हरदा में कांग्रेस ज़िलाध्यक्ष सहित 50 से ज़्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ़्तार किया. ये लोग धिक्कार यात्रा के जरिए मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने जा रहे थे.

अनुपपुर  जिले के हरद स्टेशन पर आंदोलनकारियों ने अंबिकापुर- शहडोल ट्रेन रोक ली.  100 से ज़्यादा लोग इंजन पर चढ़ गए  और प्रदर्शन किया. शहडोल में पुलिस लाठीचार्ज के बाद तनाव फैल गया था. आंदोलनकारी न्यायिक जांच से संतुष्ट नहीं थे वो एसपी को हटाने की मांग पर अड़े थे.

उज्जैन के जगोटी गांव में  पुलिस और  युवाओं में विवाद हुआ लेकिन तत्काल ही  महिदपुर से नायब तहसीलदार और एसडीओपी ने हालात पर काबू पा लिया.  गंजबासौदा में सपाक्स कार्यकर्ताओंं ने बीजेपी और कांग्रेस नेताओं के पोस्टर फाड़ दिए. अलिराजपुर  में लोगों ने नगर पालिका भवन के सामने धरना दिया.
Loading...

जबलपुर में रानीताल चौराहे पर सवर्ण समाज के लोगो ने मेट्रो बस रोक ली.हंगामे की स्थिति देख पुलिस ने  मोर्चा संभाला. यहां लोग रेल रोकने जा रहे थे. मदन महल स्टेशन के पास हंगामा कटा रहा.  छतरपुर में प्रदर्शनकारियों ने बीजेपी दफ़्तर के सामने प्रदर्शन कर  सांसदों- विधायकों को काले झंडे दिखाए.

कटनी में तो जनपद अध्यक्ष कन्हैया तिवारी ने महाबंद में शामिल होकर बीजेपी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. रीवा के मऊगंज से पूर्व विधायक और बीजेपी नेता लक्ष्मण तिवारी ने भी एससी एसटी एक्ट के विरोध में भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से  इस्तीफा दे दिया. सिवनी में भारत बंद के दौरान विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों ने सीएम शिवराज सिंह का पुतला जलाया.

आरोन, श्योपुर में लोगों ने वोट फॉर नोटा के नारे लगाते हुए प्रदर्शन किया. शिवपुरी में एससी एसटी एक्ट के विरोध में युवा सड़कों पर निकले. यहां बाज़ार और स्कूल पूरी तरह बंद रहे.

राजगढ़ ज़िले  ब्यावरा , जीरापुर, खुजनेर सारंगपुर में लोगों ने काली पट्टी बांध कर मौन जुलूस निकाला.  सपाक्स के भारत बंद का दमोह के साथ ग्रामीण अंचलों में खासा असर रहा. होशंगाबाद में करणी सेना के लोगों ने रैली निकाली. सीहोर में मेडिकल स्टोर भी दोपहर 12 बजे तक बंद रहे.

डिंडौरी ,कटनी मंडला पूरी तरह बंद रहे. यहां बसें भी नहीं चलीं. पन्ना बस स्टैंड की में बंद का असर साफ दिखा. चाय पान की दुकानें तक बंद रहीं. कई बसों को भी रद्द कर दिया गया.

इंदौर में सवर्णों के भारत बंद को 50 से ज़्यादा संगठनों ने  समर्थन दिया. अहिल्या चैंबर ऑफ कॉमर्स सहित व्यापारिक संगठन भी बंद में शामिल रहे.

ये भी पढ़ें : सपाक्स संयोजक हीरालाल त्रिवेदी बोले, 'मध्य प्रदेश में सफल रहा बंद'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर