लाइव टीवी

MP COVID-10 Updates: मध्‍य प्रदेश में सामने आए 5 नए पॉजिटिव केस, संक्रमितों की संख्‍या 39 तक पहुंची
Jabalpur News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: March 29, 2020, 11:24 AM IST
MP COVID-10 Updates: मध्‍य प्रदेश में सामने आए 5 नए पॉजिटिव केस, संक्रमितों की संख्‍या 39 तक पहुंची
मध्‍य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के पांच नए मामले सामने आए हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के पांच नए पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. वहीं, जबलपुर मेडिकल कॉलेज में एक संदिग्‍ध महिला मरीज की मौत हो गई.

  • Share this:
भोपाल. मध्‍य प्रदेश में शासन और प्रशासन कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए तमाम तरह के प्रयास कर रहा है. इस बीच, रविवार को अधिकारियों ने प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित पांच नए मामले मिलने की बात कही है. न्‍यूज एजेंसी PTI के अनुसार, नए पॉजिटिव मामलों के सामने आने के बाद मध्‍य प्रदेश में COVID-19 से पीड़ितों की संख्‍या 34 से बढ़कर 39 तक पहुंच गई है. जानकारी के मुताबिक, पांचों नए मरीज इंदौर में सामने आए हैं. वहीं, इंदौर के एक अस्‍पताल से एक कोरोना वायरस संक्रमित मरीज के भागने की खबर सामने आई है. बाद में उसे पकड़ लिया गया. अब उसके संपर्क में आए लोगों की भी जांच की जा रही है.

जबलपुर में संदिग्‍ध महिला मरीज की मौत
इस बीच, प्रदेश के जबलपुर में कोरोना वायरस के एक संदिग्‍ध महिला मरीज की मौत होने का मामला सामने आया है. जानकारी के अनुसार, जबलपुर मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई. बताया जाता है कि उनका पति तकरीबन 10 दिनों पहले ही सऊदी अरब से लौटा था. महिला को बुखार, कफ और सांस लेने में दिक्‍कत की शिकायत थी. मेडिकल टेस्‍ट के लिए उनके सैंपल को ICMR भेजा गया है.





प्रदेश में क्वारेंटाइन या आइसोलेशन से मना करने पर दर्ज की जाएगी FIR
मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का कोई संदिग्ध या पॉजिटिव संक्रमित या संस्था या परिसर या मकान मालिक क्वारेंटाइन या आइसोलेशन से मना नहीं कर सकता है, मना करने पर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा. जिला दंडाधिकारी (कलेक्टर) को एमपी एपीडेमिक डिसीजेज एक्ट 2020 के तहत यह अधिकार दे दिया गया है. शनिवार को एक्ट का गजट नोटिफिकेशन जारी किया गया है. एक्ट को एक साल के लिए लागू किया गया है. एक्ट का उल्लंघन करने पर आईपीसी की धाराओं के तहत दंडात्मक कार्रवाई का प्रावधान किया गया है. किसी भी नर्सिंग होम या क्लीनिक या अन्य स्वास्थ्य केन्द्रों को कोविड 19 के संदिग्ध या पॉजिटिव प्रकरणों की सूचना जिले की एकीकृत बीमारी सतर्कता ईकाई को तुरंत देनी होगी.

ये भी पढ़ें - 

बेआसरा छात्रों को हिमाचल भवन में दिया जाएगा आसरा, जानें क्‍या है पूरा मामला

झारखंड : नहीं की गई Coronavirus संदिग्ध की जांच, महंगी न पड़ जाए लापरवाही

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जबलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 29, 2020, 10:10 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading