राम की नगरी से निकलेगा किसान आंदोलन के 'दाग' धोने का रास्ता
Bhopal News in Hindi

राम की नगरी से निकलेगा किसान आंदोलन के 'दाग' धोने का रास्ता
राम घाट, चित्रकूट, File Photo- MP Tourism

किसान आंदोलन और पुलिस फायरिंग में पांच लोगों की मौत के दाग धोने की कवायद में मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार जुट गई है.

  • Share this:
किसान आंदोलन और पुलिस फायरिंग में पांच लोगों की मौत के दाग धोने की कवायद में भाजपा जुट गई है. किसानों का खोया विश्वास और दिल जीतने की सारी कवायद यूपी से सटी राम की नगरी यानि चित्रकूट से शुरू होगी.

दरअसल, अमित शाह के दौरे के बाद मध्यप्रदेश में मोर्चा संगठनों को निचले स्तर तक सक्रिय करने की कवायद शुरु हो गई है. भाजपा किसान मोर्चे की सोमवार को हुई बैठक में किसानों के बीच सरकार की छवि सुधारने के लिए कार्यक्रम चलाने पर जोर दिया गया.

मंदसौर गोलीकांड से सरकार की छवि पर उठे सवाल को दूर करने के लिए किसान मोर्चा ने रणनीति भी बना ली है. अगले महीने चित्रकूट में होने वाली मोर्चे की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में रोडमैप मुहर लगाया जाएगा.



भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के तीन दिवसीय दौरे के बाद प्रदेश में पार्टी के मोर्चा-संगठनों को वोटरों के बीच सशक्त करने की शुरुआत कर दी गई है. इसी सिलसिले में भाजपा किसान मोर्चे की भोपाल में पार्टी मुख्यालय में बैठक हुई. बैठक में सरकार की ओर से कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन शामिल हुए.
किसान आंदोलन और मंदसौर गोलीकांड के बाद राज्य सरकार की छवि किसानों के बीच सुधारने के लिए प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम चलाने पर चर्चा हुई. जिस के तहत गांव-गांव जाकर
मोर्चा की टीम किसानों से बात करेगी और सरकार की चलाई जा रही किसान हितैषी योजनाओं के बार में जानकारी देगी.

कार्यक्रम के रोडमैप पर मुहर 9 और 10 सितम्बर को चित्रकूट में किसान मोर्चे की होने वाली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में लगेगा.

बैठक में शामिल कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने फसल बीमा योजना, समर्थन मूल्य पर अनाज खरीदी और किसानों के लिए चलाई जा रही कर्ज से जुड़ी योजनाएं और दूसरी सुविधाओं के बार जानकारी दी.

अमित शाह ने भी भोपाल में पार्टी नेताओँ की बैठकों में मोर्चा-संगठनों को बूथ लेवल तक जोड़ने की बात कही थी.

फिलहाल, उत्तरप्रदेश की सीमा से जुड़े चित्रकूट में विधानसभा उपचुनाव होने है. ऐसे में किसान मोर्चे की दो दिवसीय बैठक के जरिए पार्टी की कोशिश उपचुनाव की घोषणा तक वोटरों में कमल के प्रति माहौल कायम करना है. बैठक में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading