पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कमलनाथ सरकार को दी भोपाल घेरने की चेतावनी

Ashok Agrawal | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 28, 2019, 1:17 PM IST
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कमलनाथ सरकार को दी भोपाल घेरने की चेतावनी
मीडिया से बातचीत में भी सरकार पर आक्रामक दिखे पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

पिछोर विधानसभा क्षेत्र में बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर हो रहे कथित अत्याचार के खिलाफ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार को भोपाल घेरने की चेतावनी दी है. मंगलवार को एक जनसभा में उन्होंने इसका एलान किया.

  • Share this:
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कमलनाथ सरकार को चेतावनी देते हुए स्थिति नहीं सुधरने पर भोपाल घेरने की चेतावनी दी है. शिवराज सिंह ने मंगलवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, "हम चाहें तो थाना घेर लें पर आज हम अनुशाशन में रहेंगे अन्याय सहन नहीं करेंगे. हम गोली खाने तैयार हैं स्थिति नहीं सुधरी तो हम भोपाल घेरेंगे".

भाषण से पहले मंच पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व बीजेपी के अन्य नेता


स्थिति नहीं सुधरी को करें उग्र आंदोलन : शिवराज

पिछोर विधानसभा से कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री के.पी. सिंह पर आरोप लगाते हुए उन्होंने मंच से कहा कि इस विधानसभा क्षेत्र में लोगों पर हो रहे अत्याचारों को सहन नहीं किया जाएगा. हमने पहले भी आंदोलन किया था अब अगर स्थिति में सुधार नहीं हुआ तो हम उग्र आंदोलन करेंगे. अब शांत नहीं बैठेंगे. उल्लेखनीय है कि ज़िले की पिछोर विधानसभा में कांग्रेस विधायक केपी सिंह पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज कराने का आरोप लगाते हुए हजारों कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा स्थानीय सांसद के.पी.यादव के साथ बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी थी. गिरफ्तारी के बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंघ भाजपा उपाध्यक्ष प्रभात झा, सांसद केपी यादव सहित तमाम दिग्गज नेताओं को पहले पिछोर थाने लाया गया फिर उन्हें रिहा कर दिया गया था. मीडिया से बात करते हुए भी शिवराज सिंह चौहान ने फिर कमलनाथ सरकार को चेतावनी दी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 1:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...