'हॉर्स ट्रेडिंग' पर दो विधायकों का खुलासा, कहा- BJP ने नहीं बनाया हमें बंधक

दि‌ग्‍विजय सिंह. (फाइल फोटो)
दि‌ग्‍विजय सिंह. (फाइल फोटो)

बीएसपी विधायक संजीव कुशवाहा ने कहा कि कांग्रेस (Congress) के कुछ मंत्री हाईकमान के सामने नंबर बढ़ाने के लिये ये बयानबाजी कर रहे हैं जो कि ठीक नहीं है. कांग्रेस को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिये.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश के मिडनाइट हॉर्स ट्रेडिंग ड्रामा के दो किरदारों ने कांग्रेस के लिये नई मुश्किल खड़ी कर दी है. दरअसल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने दावा किया था कि इन विेधायकों को बीजेपी ने बंधक बनाकर रखा था. लेकिन भोपाल में न्यूज18 इंडिया से बातचीत में बीएसपी विधायक संजीव कुशवाहा (Sanjeev Kushwaha) और समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला (Rajesh Shukla) ने सनसनीखेज खुलासा किया है. दोनों ने कहा कि वो कभी बंधक बनाये ही नहीं गये और ना ही किसी ने उन्हें छुड़ाया. कांग्रेस के नेता उन्हें छुड़वाने का झूठा दावा कर रहे हैं. कांग्रेस के नेता और मंत्री हाईकमान के सामने अपने नम्बर बढ़ाने के लिए ये ड्रामा कर रहे हैं.

'कांग्रेस करे कार्रवाई'
न्यूज18 इंडिया से बातचीत में बीएसपी विधायक संजीव कुशवाहा ने कहा, 'वो कह रहे हैं कि वे हमें सकुशल लाये. सच्चाई ये है कि ऐसा कुछ हुआ ही नहीं था. वो बताएं कि हमें कहां बंधक रखा गया. वो जनता के सामने रखें. कांग्रेस के कुछ मंत्री हाईकमान के सामने नंबर बढ़ाने के लिये ये बयानबाजी कर रहे हैं जो कि ठीक नहीं है. कांग्रेस को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिये. जनता ने हमें चुनकर भेजा है.'

'ये कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई'
वहीं, समाजवादी पार्टी के विधायक राजेश शुक्ला ने भी कहा, 'कांग्रेस के नेता गलत कह रहे हैं. ये अजीब बात है कि बचाने वाला खुद कह रहा है कि वो हमें छुड़ा के लाये. ये कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई है.'



'विधायकों को 5-10 करोड़ रुपये का ऑफर'
बता दें, कांग्रेस सरकार के कई विधायक जिनमें बाहर से समर्थन दे रहे निर्दलीय और सपा-बसपा के विधायकों को गुरुग्राम के एक होटल में देखा गया तो कमलनाथ सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे और ऑपरेशन लोटस की चर्चा तेज हो गई. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा बीजेपी पर लगाए गए हॉर्स ट्रेडिंग के आरोपों पर मंगलवार सुबह से लेकर मिडनाइट तक सियासी ड्रामा चलता रहा है. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने विधायकों को पाला बदलने के लिए 5-10 करोड़ रुपए का ऑफर दिया है.

'दिग्विजय सिंह का दावा'
दिग्विजय सिंह ने कहा था कि बीजेपी मध्य प्रदेश के कांग्रेस, बसपा, समाजवादी पार्टी और निर्दलीय के विधायकों को बंधक बनाकर दिल्ली लाई. बीजेपी ने बसपा के 2, एक निर्दलीय और 6 कांग्रेसी विधायकों को गुड़गांव के आईटीसी मराठा होटल में एकत्रित किया है. हालांकि कांग्रेस ने दावा किया था कि उन्होंने बीजेपी के कब्जे से छह विधायकों को छुड़ा लिया है.

(रिपोर्ट- मनोज शर्मा)

ये भी पढ़ें: ऑपरेशन लोटस: बीजेपी नेता बोले- हम पर कार्रवाई होगी तो औरों पर भी हो सकती है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज