कर्ज लेने में तीसरे नंबर पर शिव'राज', टॉप पर है वसुंधरा सरकार

इस साल में मध्य प्रदेश पर 13879 करोड़ का कर्ज बकाया है. कर्ज मामले में राजस्थान टॉप पर है जिसने साल 2016-17 में 3455 करोड़ रुपए कर्ज लिया.

Sharad Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 3:01 PM IST
कर्ज लेने में तीसरे नंबर पर शिव'राज', टॉप पर है वसुंधरा सरकार
PTI
Sharad Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 3:01 PM IST
मध्य प्रदेश सरकार कर्ज लेने के मामले में टॉप थ्री स्टेट में शामिल है. केंद्र सरकार से कर्ज लेने के मामले में राजस्थान राज्य पहले स्थान पर है. इस साल मध्य प्रदेश सरकार ने केंद्र से 13879 करोड़ रुपए का कर्ज लिया है.

मध्य प्रदेश सरकार ने केंद्र सरकार से 2016-17 में एक हजार 1266 करोड़ का कर्ज लिया था. जबकि इस साल में उस पर 13879 करोड़ का कर्ज बकाया है. कर्ज मामले में राजस्थान टॉप पर है जिसने साल 2016-17 में 3455 करोड़ रुपए कर्ज लिया.

केंद्र सरकार से कर्ज के लिए राशि लेने के मामले में तमिलनाडु दूसरे पायदान पर है. तमिलनाडु सरकार ने साल 2016-17 में 1917 करोड़ का कर्ज केंद्र सरकार से लिया था.

राजस्थान पर केंद्रीय कर्ज बढ़कर 11 हजार हो गया है. अब तक के बकाया केंद्रीय कर्ज के लिहाज से तमिलनाडु पहले और मध्य प्रदेश दूसरे पायदान पर है. राजस्थान ने सिर्फ बीते वर्ष 2016-17 में 3455 करोड़ रुपए का कर्ज एडवांस में लिया था. यह अंतर इतना अधिक था कि इस वर्ष के दौरान किसी और राज्य के दो हजार करोड़ की रकम भी नहीं मिली.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर