लाइव टीवी

दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित
Bhopal News in Hindi

News18 Madhya Pradesh
Updated: January 16, 2020, 12:09 PM IST
दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित
मध्य प्रदेश विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र आज से

फिलहाल मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में लोकसभा (lok sabha) की कुल 29 सीटें हैं. इनमें से चार एससी एवं छह एसटी के लिए आरक्षित हैं. जबकि प्रदेश में विधानसभा (vidhan sabha) की कुल 230 सीटों में से 35 सीटें एससी (sc) एवं 47 सीटें एसटी (st) सदस्यों के लिए आरक्षित हैं

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) का दो दिवसीय विशेष सत्र (Special Session) आज से शुरू हो गया. आज पहले दिन दिवंगतों को श्रद्धांजलि (tribute) देने के बाद सदन की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गयी. दो दिन का ये विशेष सत्र राज्य विधानसभाओं और लोकसभा में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) का आरक्षण 10 साल और बढ़ाने वाले विधेयक को मंजूरी देने के लिए बुलाया गया है.

लोकसभा और राज्यसभा में पास हुआ विधेयक और अब...
मध्य प्रदेश विधानसभा (Madhya Pradesh Assembly) का दो दिवसीय विशेष सत्र (Special Session) गुरुवार से शुरू हुआ. एससी.एसटी विधेयक को मंजूरी के लिए ये विशेष सत्र बुलाया गया है. पहले दिन दिवंगत लोगों को श्रद्धांजलि दी गयी. संविधान (126वां) संशोधन विधेयक को लोकसभा और राज्यसभा द्वारा क्रमश: 10 और 12 दिसम्बर को पारित कर दिया गया है. बाद में इसे अनुमोदन के लिए राज्यों को भेजा गया. इसे लागू करने से पहले कम से कम 50 प्रतिशत विधानसभाओं की सहमति जरूरी है. यह विधेयक इसलिए जरूरी हो गया, क्योंकि आरक्षण की अवधि इस वर्ष 25 जनवरी को खत्म हो रही है. मध्य प्रदेश विधानसभा के प्रमुख सचिव ए पी सिंह ने कहा देश की 50 प्रतिशत विधानसभाओं का अनुमोदन मिलने के बाद इसे राष्ट्रपति को भेजा जाएगा और उनकी स्वीकृति मिलने के बाद यह कानून बन जाएगा.

मध्‍य प्रदेश में हैं इतनी सीटें

फिलहाल मध्य प्रदेश में लोकसभा की कुल 29 सीटें हैं. इनमें से चार एससी एवं छह एसटी के लिए आरक्षित हैं. जबकि प्रदेश में विधानसभा की कुल 230 सीटों में से 35 सीटें एससी एवं 47 सीटें एसटी सदस्यों के लिए आरक्षित हैं

कैबिनेट की बैठक
इससे पहले सुबह कमलनाथ कैबिनेट की बैठक हुई. इसमें बड़ा फैसला लिया गया कि अब फोर्थ क्लास कर्मचारियों के तबादले बिना समनवय के होंगे. साथ ही CM के स्वेच्छानुदान की राशि डेढ़ करोड़ कर दी गयी. पान उत्पादक किसानों की मदद के लिए 30 हजार की राशि देने के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मज़ूरी दे दी. इसी के साथ निवाड़ी जिले के गवर्नेंस के लिए पदों को मंजूरी और खनन वाले स्थानों की सड़कों के मेंटेनस की ज़िम्मेदारी निजी क्षेत्र को देने का फैसला भी कैबिनेट ने लिया.विधायक दल की बैठक
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक भी बुलायी है. ये बैठक दोपहर 1:00 बजे होगी. इसमें भी विधानसभा के विशेष सत्र के संबंध में चर्चा की जाएगी.

ये भी पढ़ें-जब दिग्विजय सिंह ने कैलाश विजयवर्गीय को गले लगाया, कहा- चलो कॉफी पीते हैं

MP PSC में विवादित सवाल : अधिकारियों के खिलाफ एट्रोसिटी एक्ट के तहत FIR दर्ज

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 8:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर