लाइव टीवी
Elec-widget

सिख समाज को कमलनाथ सरकार का तोहफा : करतारपुर साहिब गुरुद्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में शामिल

News18 Madhya Pradesh
Updated: November 13, 2019, 6:55 PM IST
सिख समाज को कमलनाथ सरकार का तोहफा : करतारपुर साहिब गुरुद्वारा मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में शामिल
MP की मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना में करतारपुर साहिब गुरुद्वारा शामिल

  • Share this:
भोपाल.  मध्य प्रदेश (madhya pradesh) की कमलनाथ सरकार (kamalnath) ने सिख समाज (Sikh society ) को बड़ी सौगात दी है. गुरु पर्व (Guru parva) के मौके पर सरकार ने पाकिस्तान स्थित करतारपुर साहिब गुरुद्वारे को मुख्यमंत्री की मध्य प्रदेश तीर्थ दर्शन योजना (Mukhya Mantri Teerth Darshan Yojna) में शामिल कर लिया है.

सिख समाज की मांग मंज़ूर
सिखों के धर्मगुरु गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व पर मध्य प्रदेश के सिख समाज को सरकार की ओर से बड़ा तोहफा मिला है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने समाज की मांग मंज़ूर करते हुए करतारपुर साहिब को मुख्यमंत्री की तीर्थदर्शन योजना में शामिल कर लिया है. इस योजना के तहत सिख समाज के 60 या उससे अधिक उम्र के बुज़ुर्ग तीर्थयात्री को मध्य प्रदेश सरकार अपने खर्च पर करतारपुर साहिब की तीर्थयात्रा कराएगी.

9 नवंबर को खुला कॉरिडोर

करतारपुर साहिब पाकिस्तान में स्थित है. भारत और पाकिस्तान सरकार ने गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर इस गुरुद्वारे के लिए कॉरिडोर खोला है. गुरुनानक देव ने अपने जीवन के आख़िरी समय के कुछ दिन इस गुरुद्वारे में बिताए थे. ये कॉरिडोर खोलने के बाद भारत की ओर से पहले जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी सहित 575 लोग शामिल हुए.
लाखों सिख श्रद्धालुओं को तोहफा
गुरुनानाक देव के 550 वें जन्मोत्सव पर होने वाले प्रकाश पर्व के ठीक पहले 9 नवम्बर को करतारपुर कॉरिडोर खोला गया. ये ऐसा मौका था जिसका देश के लाखों सिख श्रद्धालु वर्षों से इंतजार कर रहे थे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने इसे मूर्त रूप दिया. करतारपुर कॉरिडोर की बात 1999 में तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और तत्कालीन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बीच शुरू हो गई थी. लेकिन बात आगे नहीं बढ़ पाई. उसके बाद देश में कई सरकारें आईं और चली गईं लेकिन किसी भी सरकार ने इस मुद्दे पर उस गंभीरता से नहीं लिया. जितना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार ने लिया और इसका ही असर था कि एक साल में करतारपुर कॉरिडोर का काम पूरा कर लिया गया.
Loading...

ये भी पढ़ें-पशु चोरी से परेशान बीजेपी विधायक ने कहा- इसके पीछे कांग्रेस का हाथ

भोपाल में डेंगू: स्वास्थ्य मंत्री ने बुलाई बैठक, ड्रोन से दवा का छिड़काव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 6:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...