CM कमलनाथ के मंत्री का छलका दर्द, कहा- 'आदिवासी मंत्री होने के नाते मेरी सुनवाई नहीं हो रही'

इन दिनों मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अफसरशाही हावी है और इससे मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) के आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम (Tribal Welfare Minister Omkar Singh Markam) के अलावा विधायक सुरेंद्र सिंह ठाकुर भी खासे परेशान हैं.

Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 10, 2019, 9:34 PM IST
CM कमलनाथ के मंत्री का छलका दर्द, कहा- 'आदिवासी मंत्री होने के नाते मेरी सुनवाई नहीं हो रही'
एमपी सरकार के मंत्री का दर्द आया बाहर.
Anurag Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: September 10, 2019, 9:34 PM IST
भोपाल. बारिश से इन दिनों पूरा मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) परेशान है और इसने मुख्‍यमंत्री कमलनाथ (Chief Minister Kamal Nath) के आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम (Tribal Welfare Minister Omkar Singh Markam) को भी परेशानी में डाल दिया है. मंत्री के श्यामला हिल्स पर बने सरकारी बंगले B-8 में इन दिनों हर जगह से पानी टपक रहा है. यही वजह है कि मंत्री ओमकार सिंह मरकाम प्रदेश की चिंता छोड़ आवास में भरे पानी से दो चार हो रहे हैं. उनकी बेबसी ये है कि वो मेंटेनेंस के लिए पीडब्‍ल्‍यूडी विभाग (PWD Department) से लेकर खुद अपने विभाग के अफसरों को निर्देश दे चुके हैं, लेकिन उनकी सुनवाई कहीं नहीं हो रही है. इसके अलावा सरकारी आवास पर रखा पुराना सामान बदबू मार रहा है, तो छत से टपकता पानी फाइलों को बर्बाद कर रहा है.

मंत्री ने लगाया ये बड़ा आरोप
आदिम जाति कल्याण मंत्री ओमकार सिंह मरकाम का आरोप है कि आदिवासी मंत्री होने के नाते उनकी सुनवाई नहीं हो रही है और अब इस पूरे मामले की शिकायत वो सीधे मुख्यमंत्री कमलनाथ से करेंगे. मंत्री के मुताबिक, सरकारी बंगले के मेंटेनेंस के लिए वो कई बार अफसरों को शिकायत दे चुके हैं, लेकिन न तो बिल्डिंग का मेंटनेंस हो पाया है और न ही पुराने फर्नीचर का. साथ ही उन्‍होंने कहा कि इस समय का इस्तेमाल उन्हें प्रदेश के आदिवासियों के विकास पर खर्च करना चाहिए था, लेकिन वो अफसरों के साथ माथापच्ची करने में हैं.

मंत्री ओमकार सिंह मरकाम का आरोप है कि आदिवासी मंत्री होने के नाते उनकी सुनवाई नहीं हो रही है


हालात ऐसे हैं कि मंत्री अपने सरकारी आवास पर बने दफ्तर में सरकारी फाइलें तक नहीं निपटा पाते हैं, क्योंकि छत से टपकने वाला पानी फाइलों को बर्बाद कर देता है. इसकी शिकायत वो अपने विभाग के अफसरों से भी कर चुके हैं, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो पा रही है. इस कारण अब मामला मुख्यमंत्री कमलनाथ के संज्ञान में लाने की तैयारी है.

निर्दलीय विधायकों का भी ऐसा ही दर्द
ऐसा हाल सिर्फ मंत्रियों का नहीं बल्कि सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों का भी है. बारिश का पानी घुसने की तस्वीरें निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह ठाकुर के आवास से आई हैं. थोड़ी बारिश में ये सरकारी बंगला ताल तलैया में तब्दील हो जाता है. आलम ये है कि बारिश के मौसम में यहां विधायक भी कुर्सी पर टांगे ऊपर करके बैठते हैं. जबकि विधायक के घर में काम करने वाले कर्मचारी भी पानी के भरने से फैलने वाली बीमारी से पीड़ित हैं.
Loading...

विधायक के मुताबिक, छतों से पानी टपकता है और पूरा घर बारिश के कारण पानी पानी हो गया है. जबकि वह इस मामले में कई बार पीडब्‍ल्‍यूडी के अफसरों को शिकायत दर्ज करा चुके हैं, लेकिन उनकी शिकायत को सुनने वाला कोई नहीं है. अब विधायक सुरेंद्र सिंह भी इस मामले की शिकायत सीएम कमलनाथ से करने की बात कह रहे हैं. इन दिनों पूरा प्रदेश पानी पानी हो रहा है. आम आदमी तो परेशान है ही खास भी परेशानी में हैं.

ये भी पढ़ें- 

लोग हैं कि मानते नहीं : जान ख़तरे में डालकर उफनते नदी-नाले पार

सतना में डर लगता है! 3 साल में 721 बच्चे लापता, अपहरण और हत्या से दहला ज़िला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 9:15 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...