Home /News /madhya-pradesh /

Madhya Pradesh Weather Alert: मध्य प्रदेश में इंदौर, सीहोर, शिवपुरी समेत इन 20 जिलों में बारिश की संभावना

Madhya Pradesh Weather Alert: मध्य प्रदेश में इंदौर, सीहोर, शिवपुरी समेत इन 20 जिलों में बारिश की संभावना

उत्तर भारत की सर्द हवाओं ने मप्र के मौसम का मिजाज बदल दिया है. मौसम विभाग ने कई जिलों में बारिश की संभावना भी जताई है.

उत्तर भारत की सर्द हवाओं ने मप्र के मौसम का मिजाज बदल दिया है. मौसम विभाग ने कई जिलों में बारिश की संभावना भी जताई है.

Madhya Pradesh Weather Forecast: मध्य प्रदेश में अगले दो दिन में मौसम का मिजाज बदलने की पूरी संभावना है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक, प्रदेश में 1-3 दिसंबर तक बादल छाने, मावठे गिरने और धुंध छाने की संभावना है. दरअसल, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है. पश्चिमी विक्षोभ भी प्रदेश में पहुंच रहा है. प्रदेश के उज्जैन, इंदौर, जबलपुर, और पूर्वी मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग में बारिश होने की संभावना है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश में अगले दो दिन में मौसम करवट (Madhya Pradesh Weather Update)) ले सकता है. प्रदेश में 1-3 दिसंबर के बीच मावठे गिरने और धुंध छाने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है. बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है. इसके अलावा, पश्चिमी विक्षोभ भी प्रदेश में पहुंच रहा है. ऐसे में प्रदेश के उज्जैन, इंदौर, जबलपुर, और पूर्वी मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग में आगामी तीन दिन में बारिश हो सकती है.

मौसम विभाग ने कहा है कि प्रदेश में 1 से 3 दिसंबर तक बादल छाने, मावठे गिरने और धुंध छाने की संभावना है. दरअसल, बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है. इसकी वजह से ही मौसम का मिजाज बदलेगा. इस बीच वेस्टर्न डिस्टरबेंस भी मध्य प्रदेश पहुंच रहा है. इन सिस्टम के कारण पश्चिमी मध्यप्रदेश यानी ब्यावरा, अलीराजपुर, उज्जैन, झाबुआ, राजगढ़, गंजबासौदा, बारासिवनी, इंदौर, शाजापुर, देवास, धार, रतलाम, सीहोर में एक दिसंबर, जबकि, जबलपुर, मंडला, बालाघाट और पूर्वी मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल संभाग के शिवपुरी, गुना, दतिया, अशोकनगर, भिंड, मुरैना में 2 दिसंबर से बादल छाने और बारिश होने की संभावना है.

सिस्टम के सक्रिय होने से बढ़ेगी सर्दी

मौसम विभाग का कहना है कि अरब सागर में साइक्लोनिक सरकुलेशन बन चुका है. इससे पूर्व मध्य अरब सागर होती हुई एक द्रोणिका लाइन भी गुजर रही है. दूसरी तरफ, अरब सागर में महाराष्ट्र तट के पास और बंगाल की खाड़ी में दो अलग-अलग लो प्रेशर एरिया बन रहे हैं. बंगाल की खाड़ी में बन रहे कम दबाव के क्षेत्र के साइक्लोन में बदलने की संभावना भी है. सिस्टम के सक्रिय होने से पूर्वी और पश्चिमी मध्य प्रदेश में मावठा गिरने की संभावना है. तो वहीं, उत्तर भारत से आ रही सर्द हवाओं से तापमान में गिरावट हो रही है.

प्रदेश भर में सबसे सर्द पचमढ़ी

उत्तर भारत से आ रही सर्द हवाएं लोगों को कंपकंपा रही हैं. इन हवाओं ने मौसम में ऐसी ठंडक घोल दी है कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दिन का तापमान 1.9 डिग्री लुढ़ककर 26.9 डिग्री पहुंच गया है. यहां सोमवार का दिन सीजन का अभी तक का सबसे सर्द दिन रहा. मौसम विभाग ने पूर्व मध्य प्रदेश-पश्चिमी मध्य प्रदेश में मावठा गिरने की संभावना जताई है.

प्रदेश में पचमढ़ी सबसे सर्द रहा. पचमढ़ी में न्यूनतम तापमान 7.2 डिग्री रिकॉर्ड हुआ. उमरिया में न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री, मंडला में 8.8 डिग्री, ग्वालियर में 9.6 डिग्री, रायसेन में 9 डिग्री, बैतूल में 10.5 डिग्री, छिंदवाड़ा में 10 डिग्री, नौगांव में 10.1 डिग्री, रीवा में 10.4 डिग्री, गुना में 11.7 डिग्री, खरगोन में 11.6 डिग्री, शिवपुर-श्योपुर-शाजापुर में 11.5 डिग्री, जबलपुर में 11 डिग्री, 11.4 में डिग्री, सीधी में 11.2 डिग्री, टीकमगढ़ में 11.4 डिग्री, सागर में 12.5 डिग्री, धार में 12.1 डिग्री तापमान रिकॉर्ड हुआ.

आपके शहर से (भोपाल)

भोपाल
भोपाल

Tags: Bhopal news, Madhya pradesh news, Mp news, Weather Update

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर