पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए मध्य प्रदेश के युवक को परिवार वालों ने पहचाना, वापस लाने की तैयारी

खंडवा जिले के नर्मदानगर में रहने वाले भील परिवार ने राजू की फोटो देखकर दावा किया है. परिवार वालों का कहना है कि शनिवार को उसके घर खुफिया पुलिस के कुछ लोग फोटो लेकर आए थे, जिससे उसकी पहचान राजू के रूप में की है.

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 4, 2019, 10:46 AM IST
पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए मध्य प्रदेश के युवक को परिवार वालों ने पहचाना, वापस लाने की तैयारी
पाकिस्तान में गिरफ्तार हुआ मध्य प्रदेश का युवक, हुई पहचान (फाइल फोटो)
Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: August 4, 2019, 10:46 AM IST
पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए मध्य प्रदेश के युवक की पहचान हो गई है. युवक खंडवा जिले का रहने वाला है. युवक का नाम राजू लक्ष्मण है. मिली जानकारी के मुताबिक राजू मानसिक रूप से विक्षिप्त है. पुलिस मुख्यालय ने राजू को लेकर अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों को भेज दी है.

ये है पूरा मामला

दरअसल, बीते 29 जुलाई को पाकिस्तान में मध्य प्रदेश के एक युवक को गिरफ्तार किया गया था. इस पर एमपी इंटेलिजेंस ने युवक की पहचान करने के लिए इंदौर और खंडवा में संभावित स्थानों पर पूछताछ की. इसी क्रम में बीती रात शनिवार को इंटेलिजेंस ने युवक की पहचान को स्थापित कर लिया.

दरअसल, खंडवा जिले के नर्मदानगर में रहने वाले भील परिवार ने राजू की फोटो देखकर दावा किया है. परिवार वालों का कहना है कि शनिवार को उसके घर खुफिया पुलिस के कुछ लोग फोटो लेकर आए थे, जिससे उसकी पहचान राजू के रूप में की है.

इधर, इंटेलिजेंस के अधिकारियों ने युवक की पहचान की पुष्टि फोन के माध्यम न्यूज 18 से साझा की है. इंटेलिजेंस के अधिकारियों की मानें तो युवक खंडवा जिले के नर्मदा नगर में रहता है. परिवार ने फोटो में देखकर उसकी पहचान की है.

पाकिस्तान में मिला-found in pakistan
परिवार ने फोटो में देखकर उसकी पहचान की है. (फाइल फोटो)


परिवार वालों से मिली जानकारी के मुताबिक 15 साल पहले ओंकारेश्वर बांध में बाढ़ आने के कारण युवक का गांव डूब गया था. तब से पूरा परिवार इंधावड़ी इलाके में आकर रह रहा था. मिली जानकारी के मुताबिक राजू बलूचिस्तान (पाकिस्तान) के जरिए डेरा गाजी खान जिले में चला गया था.
Loading...

राजू के परिवार में पिता लक्ष्मण, मां बसंता, भाई दिलीप और बहन ममता है. राजू की शादी राजस्थान में हुई है. राजू साल 2018 की गर्मियों में आखिरी बार गांव में देखा गया था. गांव वालों के मुताबिक राजू मानसिक रूप से विक्षिप्त है. राजू 5वीं कक्षा तक पढ़ा है और उसकी मानसिक स्थिति साल 2005 से यानी शादी के बाद खराब हुई है.

ओंकरेश्वर के पास साधू-संतों के साथ घूमता दिखा था राजू

लोगों का कहना है कि पत्नी के घर से चले जाने के बाद से राजू घर से 1 से 2 महीनों तक बाहर ही रहता था. राजू पिछले 6-7 महीने से घर नहीं आया है. हालांकि गांव वालों का कहना है कि 2 महीने पहले वह गांव आया था, पर अपने घर नहीं गया. राजू को ओंकरेश्वर के आसपास साधू संतों के साथ घूमता देखा गया था. वह गांजा और चिलम पीता है.

खुफिया एजेंसी-intelligence Agency
पाकिस्तान से में है राजू


पाकिस्तान से वापस लाने का प्रयास

बहरहाल, राजू लक्ष्मण की पहचान होने के बाद एमपी पुलिस मुख्यालय ने उसके संबंध में तमाम रिपोर्ट गृह मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों को भेज दी है. राजू मानसिक रूप से विक्षिप्त है और उसके परिवार के बयान भी दर्ज किए गए हैं. अब राजू को कैसे पाकिस्तान से वापस लाना है, इसे लेकर भी कदम उठाए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें:- 8वीं क्लास के बालक पर चाकू से हमला, अपहरण का शक.. 

ये भी पढ़ें:- 'मिलावट करने वाले MP छोड़ दें या जेल जाने को तैयार रहें'
First published: August 4, 2019, 10:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...