Assembly Banner 2021

Mahashivratri 2021: सीएम शिवराज, सिंधिया और कैलाश ने किए भोलेनाथ के दर्शन, शिवालयों में दिनभर गूंजे जयकारे

महाशिवरात्रि पर प्रदेश के सभी बड़े नेताओं ने भगवान शंकर से आशीर्वाद लिया.

महाशिवरात्रि पर प्रदेश के सभी बड़े नेताओं ने भगवान शंकर से आशीर्वाद लिया.

Mahashivratri 2021: महाशिवरात्रि के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल, सिंधिया ने ग्वालियर और विजयवर्गीय ने इंदौर में भगवान शंकर के दर्शन किए.

  • Last Updated: March 11, 2021, 4:59 PM IST
  • Share this:
भोपाल/उज्जैन/देवास/ग्वालियर. महाशिवरात्रि  के मौके पर प्रदेश भर के शिवालयों में धूम मची रही. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और BJP के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सहित कई नेताओं ने भगवान शंकर के चरणों में माथा टेका और सुख-संपन्नता का आशीर्वाद लिया.

भोपाल में सीएम शिवराज सिंह चौहान पत्नी साधना सिंह के साथ बड़वाले महादेव मंदिर पहुंचे. यहां उन्होंने भगवान शंकर का अभिषेक किया. इस दौरान भोलेनाथ सज-धज कर नंदी पर सवार हुए और फिर बारात निकली. सीएम शिवराज सिंह भी बारात में शामिल हुए. उन्होंने रथ अपने हाथ से पकड़कर बारात को आगे गिया. बारात ने पुराने शहर के चौराहों का भ्रमण किया, जहां जगह-जगह लोगों ने फूल बरसाकर उनका स्वागत किया. बता दें, बारात शाम को कर्फ्यू वाली माता के मंदिर पहुचेंगी और वहां भगवान शिव का मां पार्वती से विवाह होगा. रात 12बजे मां पार्वती के साथ भोलेनाथ बड़वाले मंदिर पहुंचेंगे.

सिंधिया-तोमर-कैलाश ने किए भगवान के दर्शन



इधर ग्वारियर में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर ने कोटेश्वर महादेव मंदिर पहुंचकर पूजा-अर्चना की. उन्होंने मन्दिर में महादेव का अभिषेक किया. इस दौरान मंत्री तोमर ने मन्दिर के बाहर कतार में लगे शिव भक्तों का उत्साहवर्धन करने के लिए बम-बम भोले के नारे भी लगाए. उज्जैन में भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सुबह 6.30 बजे महाकाल मंदिर पहुंचे और महाकाल के दर्शन कर आशीर्वाद लिया.
देवास में लगा शिव-भक्तों का तांता

देवास के शिवालयों में भक्तों का तांता लगा रहा. भक्तों में शिव के दर्शन किए औऱ शिव की पूजा अर्चना की. देवास के बिलावली मंदिर स्थित शिव मंदिर में सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचे. बता दें, बिलावली स्थित महाकाल मंदिर का शिवलिंग हर शिवरात्रि पर तिलभर बढ़ता है. यह शिवलिंग महाकाल के शिवलिंग की तरह है दिखाई देता है. बताया जाता है कि 3 सदियों पहले यहां एक भक्त को स्वप्न में दर्शन भगवान शिव ने दिए थे और कहा था की पहाड़ी पर गोबर से लीपकर यहां बिलपत्र चढ़ाना. मैं यहीं आ जाउंगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज