ये पाप है: मजबूरों को 47 हजार में बेचे रेमडेसिविर इंजेक्शन के दो डोज, लगाने गए तो नकली निकले

राजधानी भोपाल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी ब्लैक मार्केटिंग हो रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

राजधानी भोपाल में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी ब्लैक मार्केटिंग हो रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

Remdesivir Black Marketing: मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के तमाम दावों के बाद भी जीवन रक्षक रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी जारी है. एक शख्स ने मजबूर परिवार का फायदा उठाकर उन्हें 47 हजार में रेमडेसिविर बेचे. ये इंजेक्शन भी नकली निकले.

  • Last Updated: April 19, 2021, 8:06 AM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश सरकार के कोरोना को लेकर किए जा रहे दावे के बीच राजधानी में नकली रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी हो रही है. अस्पतालों के बाहर ठग सक्रिय हैं. एक ऐसा ही मामला मिसरोद थाना क्षेत्र में सामने आया है.

मरीज के परिजन को अस्पताल के बाहर खड़े एक युवक ने 47 हजार रुपए का एक नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन थमा दिया. परिजन जब डॉक्टर के पास इंजेक्शन लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने इंजेक्शन को नकली बताया. इसके बाद जब परिजन वापस युवक को ढूंढने अस्पताल के बाहर आए तो तब तक युवक फरार हो चुका था.

दिनभर परेशान होते रहे परिजन

इस ठगी का शिकार परिवार पिपरिया से भोपाल इलाज कराने आया है.. मरीज प्रकाश को सिलावट मिसरोद थाना क्षेत्र के 11 मील स्थित निर्मल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है . प्रकाश के फेफड़ों में करीब 40 प्रतिशत संक्रमण है. इसी संक्रमण के चलते डॉक्टरों ने परिजन को इंजेक्शन लाने की सलाह दी थी. अब परिजनों ने रेमडेसिविर इंजेक्शन ढूंढना शुरू किया, लेकिन घंटों तक भटकने के बाद भी कुछ हाथ नहीं लगा.
मेडिकल से लिया था इंजेक्शन

परिजन अस्पताल-मेडिकल घूमते रहे. वे अस्पताल के बाहर बार-बार लोगों से पूछते रहे. उन्हें मजबूरी में देख एक शख्स ने झांसे में लिया और इंजेक्शन के दो डोज के लिए 47 हज़ार रुपए ले लिए. आरोपी युवक ने मंडीदीप स्थित इंडस टाउन में किसी मेडिकल से इंजेक्शन दिलाया था. पुलिस की जांच में अब न मेडिकल का पता चल रहा है और न ही उस युवक काठग पता चल रहा है. आरोपी की तलाश जारी है.

इन चार को पुलिस ने किया गिरफ्तार



शाहजहांनाबाद क्षेत्र में पुलिस ने चार लोगों को पकड़ा है. आरोपियों में दो लोग मेडिकल स्टोर से जुड़े और एक डॉक्टर है. ये लोग खड़े होकर ग्राहक तलाश रहे थे, तभी पुलिस ने उन्हें दबोच लिया. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. सीएसपी क्राइम ब्रांच गोपाल धाकड़ ने बताया कि रविवार को इस्लामी गेट के पास ब्लैक में इंजेक्शन के बेचे जाने की सूचना मिली. बताया गया था कि कुछ लोग 12 से 20 हजार रुपए में इंजेक्शन बेच रहे हैं. इस पर पुलिस ने ग्राहकों की प्रतीक्षा में खड़े गिरोह के सदस्यों को दबोचा. बताया गया है कि पकड़े गए. आरोपी शमी खान, अखलाक खान, नौमान खान और अहसान खान हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज