मंदसौर रेप: जान बचाने के लिए काटनी पड़ी पीड़ित बच्ची की आंत

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

मंदसौर रेप केस की पीड़ित बच्ची की हालत गंभीर बनी हुई है. इंदौर के एमवाय अस्पताल में उसके कई ऑपरेशन किए जा चुके हैं.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में हुए रेप केस की सुनवाई फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाएगी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दुष्कर्म करने वालों को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है. मंदसौर में दुष्कर्म की शिकार बच्ची अब इंदौर के एमवाय अस्पताल के बिस्तर पर निढाल पड़ी है. उसकी हालत गंभीर लेकिन स्थिर बनी हुई है. बच्ची की जान बचाने के लिए डॉक्टरों ने 2 घंटे में उसके 3 ऑपरेशन किए.

मंदसौर का ये केस भी दिल्ली के निर्भया कांड से कम भयावह नहीं है. आरोपी ने दुष्कर्म के बाद बच्ची के प्राइवेट पार्ट में रॉड या लकड़ी जैसी कोई चीज़ डाली थी. उसका रेक्टम बुरी तरह फट गया है. पूरे शरीर पर काटने के निशान हैं. नाक बुरी तरह ज़ख्मी है. बच्ची की जान बचाने के लिए उसकी आंत काटनी पड़ी.

मंदसौर की ये बच्ची रोज की तरह स्कूल गई थी. उसे लेने और छोड़ने रोज परिवार के सदस्य आते थे. लेकिन घटना वाले दिन वे लेट हो गए. स्कूल की छुट्टी होते ही आरोपी उसे अपने साथ ले गया और उसके साथ ये हैवानियत की.



आरोपी ने बच्ची को मिठाई का लालच देकर अगवा कर लिया था. उसने बच्ची से दुष्कर्म किया और उसकी हत्या करने की कोशिश की. वो बच्ची को मरा हुआ समझकर पास ही के खाली प्लॉट पर लगी कंटीली झाड़ियों में फेंककर फरार हो गया था.
पुलिस ने वारदात के कुछ ही देर बाद 20 साल के इस आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी की गिरफ्तारी के बाद स्थानीय लोगों ने हंगामा किया और कोतवाली थाने का घेराव किया. घटना के विरोध में गुरुवार को मंदसौर बंद रखा गया. लोग उसे फांसी देने की मांग कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें - मासूम से रेप का आरोपी गिरफ्तार, मिठाई का लालच देकर किया था दुष्कर्म
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज