कोरोना कर्फ्यू में खुला था कार शो-रूम, छापा पड़ा तो पानी की टंकी के नीचे छुप गए कर्मचारी

bhopal. जिस वक्त शो रूम पर छापा पड़ा वहां 75 कर्मचारी काम कर रहे थे.

bhopal. जिस वक्त शो रूम पर छापा पड़ा वहां 75 कर्मचारी काम कर रहे थे.

Bhopal. शो रूम संचालक, मैनेजर और एडवाइजर के विरुद्ध शासकीय कार्य में बाधा डालने का भी प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया.

  • Share this:
भोपाल. भोपाल में आज मारुति सुजुकी के एक कार शो रूम (Car showroom) पर प्रशासन की टीम ने छापा मारकर उसे सील कर दिया. कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) के बावजूद शो रूम खुला हुआ था और उसमें 75 से ज़्यादा कर्मचारी मौजूद थे. टीम ने शो रूम संचालक, मैनेजर और एडवाइजर को गिरफ्तार कर लिया. छापा पड़ते ही कर्मचारी यहां वहां भागने लगे. पुलिस से बचने के लिए कुछ लोग पानी की टंकी के नीचे छुप गए.

कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर  मारुति सुजुकी के जे के रोड स्थित राजपुर मोटर्स शो रूम पर  जिला प्रशासन की टीम ने अचानक छापा मारा. शो रूम में 75 से अधिक लोग काम करते मिले. इन सभी के विरुद्ध 188 में प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई. साथ ही शो रूम संचालक, मैनेजर और एडवाइजर के विरुद्ध शासकीय कार्य में बाधा डालने का भी प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया.

3 थानों के पुलिस फोर्स ने की घेराबंदी

कार्रवाई शुरू करने से पहले तीन थानों के पुलिस बल ने शोरूम को चारों ओर से घेर लिया. सभी लोगों को बलपूर्वक शो-रूम से बाहर निकाल कर कार्रवाई की गई. कोविड-19 के प्रावधानों का उल्लंघन करने पर मारुति सुजुकी के शोरूम को प्रशासनिक अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों और सीईओ कपिल जैन के सामने सील कर दिया गया.
पानी की टंकी के नीचे छुपे कर्मचारी

अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी दिलीप यादव के नेतृत्व  में तहसीलदार मनोज श्रीवास्तव, पटवारी सुरेंद्र यादव, आशीष मिश्रा, नीरज औऱ थाना प्रभारी अशोका गार्डन, पिपलानी, गोविंद्रपुरा के साथ इस बड़ी कार्यवाई को अंजाम दिया गया. जिला प्रशासन की कार्रवाई के दौरान काम कर रहे लोगो में  हड़कंप  मच गया. कई कर्मचारी पानी की टंकी के नीचे छत पर और कई लोगों ने अपने कमरे में बंद होकर छुपने का प्रयास किया.





बिना अनुमति के चल रहा था काम

जिला प्रशासन की टीम को औचक  निरीक्षण के दौरान राजपुर मोटर्स जे के रोड पर  बिना अनुमति लगभग 75 व्यक्ति काम करते मिले. मारुति सुजुकी सर्विस, राजपुर मोटर्स के शोरूम संचालक, कपिल जैन ( CEO ), जीएम सेल्स मैनेजर फिलिप्स थामस और एडवाइजर अशोक जैन के विरुद्ध  शासकीय कार्य में बाधा उत्पन्न करने पर धारा 353 और 151 के तहत  केस दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया गया. बाकी सभी 72 लोगों के विरुद्ध भी कोविड-19 के प्रावधानों का उल्लघंन करने पर धारा 188 की तहत कार्रवाई की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज