होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /Burhanpur की मावा जलेबी की दुनिया है दीवानी, इन नेताओं ने चखी GI टैग पाने जा रही यह मिठाई

Burhanpur की मावा जलेबी की दुनिया है दीवानी, इन नेताओं ने चखी GI टैग पाने जा रही यह मिठाई

क्या आपको पता है बुरहानपुर की मावा जलेबी को जल्द ही जीआई टैग भी मिलने जा रहा है? इसकी खासियतों के चलते सरकार के नियमों ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – अंकुश मोरे

    बुरहानपुर. हर शहर और हर राज्य का अपना-अपना पकवान होता है, जो उसके स्वाद के लिए पहचाना जाता है. ऐसा ही पकवान है मावा जलेबी, जो बुरहानपुर के नाम से मशहूर है. या यूं कहें कि इस जलेबी के नाम से ही आज बुरहानपुर को देश-दुनिया में जाना जाता है. बुरहानपुर मावा जलेबी की दुकान शहर के बीच मार्केट में स्थित है और यहां प्रतिदिन कई क्विंटल जलेबी बेची जाती है, जिसे शहर के अलावा बाहर से आने वाले पर्यटक भी बड़े चाव से खाते हैं. इस जलेबी की शोहरत इतनी है कि कई और शहरों में भी यह मिलने लगी है.

    पहले आपको इस खास मिठाई के बारे में बताएं. मावा जलेबी बनाने से पहले मावे को कई घंटों घोटा जाता है. यह मावा घर में तैयार किया जाता है. फिर अच्छे से जांच परख कर एक कपड़े की सहायता से गरम घी में जलेबी की आकृति बनाई जाती है. वह करीब 2 से 3 मिनट तपते हुए घी में रखा जाता है. जब जलेबी का रंग बदामी होने लगता है तो उसे पलट कर चिमटे की सहायता से उठाया जाता है और शक्कर की चाशनी में डाला जाता है. यहां 3 मिनट रखने के बाद उसे दुकान में बेचने के लिए रख दिया जाता है और फिर खरीदारों की कतार लग जाती है. मावा की जलेबी खाने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं.

    इन नेताओं ने खाई है मावा जलेबी

    दुकान के संचालक हाजी अब्दुल करीम ने बताया कि उनकी जलेबी का स्वाद बुरहानपुर में पधारे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो बार लिया है. लोकसभा चुनाव के दौरान AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी जलेबी खाई है और हाल ही में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान जब राहुल गांधी बुरहानपुर पधारे थे, तो कांग्रेसी नेताओं ने उन्हें बुरहानपुर की जलेबी खिलाई. यह जलेबी बुरहानपुर आने वाले पर्यटकों को खास लुभाती है.

    दुकान के संचालक बताते हैं कि यह जलेबी देश के कोने कोने में जाती है. इसके अलावा विदेशों में भी यहां के रहने वाले लोग अपने परिजनों को मिठाई के तौर पर गिफ्ट के रूप में बुरहानपुर की जलेबी भेजते हैं. जब कोई विदेश से बुरहानपुर आता है तो वह यहां आकर जलेबी खाता ही हैं. जलेबी बनाने वाले संचालक से जलेबी के स्वाद की तारीफ करता है. बुरहानपुर की जलेबी की गुणवत्ता को देखते हुए इसे जीआई टैग भी दिया जा रहा है.

    Tags: Mp news, Street Food

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें