लाइव टीवी

राज्यपाल लालजी टंडन ने डॉक्टरों को दिखाया आईना, कहा- बाज़ारवाद के कब्जे में मेडिकल सिस्टम

Sharad Shrivastava | News18 Madhya Pradesh
Updated: November 2, 2019, 6:31 PM IST
राज्यपाल लालजी टंडन ने डॉक्टरों को दिखाया आईना, कहा- बाज़ारवाद के कब्जे में मेडिकल सिस्टम
राज्यपाल ने कहा कि लाभ पहुंचाने वालों का मानवीय स्वरूप बदल गया है.

राज्यपाल लालजी टंडन (Governor Lalji Tandon) ने 'राइट टू हेल्थ' पर सरकार की सराहना करते हुए डाक्टरों (Doctors) को आईना भी दिखाया. उन्होंने कहा कि ये अधिकार इसलिए मांगना पड़ रहा है क्योंकि लाभ पहुंचाने वालों का मानवीय स्वरूप बदल गया है.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लोगों को स्वस्थ रखने के लिए आयोजित हुई राइट टू हेल्थ कॉन्क्लेव (Right to Health Conclave) का शनिवार को समापन हो गया. कॉन्क्लेव के समापन सत्र को संबोधित करते हुए राज्यपाल लालजी टंडन ने एक तरफ जहां सरकार की इस पहल की सराहना की वहीं डॉक्टर्स को आईना दिखाने का भी काम किया. राज्यपाल ने कॉन्क्लेव में आए हेल्थ एक्सपर्ट, डॉक्टर्स और आम लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज के उस दौर में जब पहले के मुकाबले साधन बढ़ गए हैं. तब भी स्वास्थ्य के अधिकार की मांग करनी पड़ रही है. ये अधिकार इसलिए मांगना पड़ रहा है क्योंकि लाभ पहुंचाने वालों का मानवीय स्वरूप बदल गया है.

बाज़ारवाद के कब्जे में मेडिकल सिस्टम
राज्यपाल ने कार्यक्रम में मौजूद लोगों से कहा कि क्या कोई डॉक्टर ये कह सकता है कि उसके पास से कोई गरीब बिना दवा के नहीं जाएगा? राज्यपाल की मानें तो बाज़ारवाद ने देश के मेडिकल सिस्टम को अपने कब्जे में ले लिया है. मौजूदा वक्त में देश मे बड़े से बड़े डॉक्टर हैं लेकिन उन्हें जो फायदा हो रहा है क्या उसका फायदा समाज के वंचित लोगों को मिल रहा है? बहुत से डॉक्टर गांव में जाना ही नहीं चाहते. अव्वल तो शहर में रहेंगे और जो समय बचेगा उसमें भी प्राइवेट प्रैक्टिस करना ज्यादा पसंद करते हैं. अगर मानवीय संवेदना जाग जाएं तो ये अधिकार मांगना ही नहीं पड़ेगा.

News - स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि सरकार जल्द ही मध्य प्रदेश के लोगों को राइट टू हेल्थ देगी.
स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा कि सरकार जल्द ही मध्य प्रदेश के लोगों को राइट टू हेल्थ देगी.


इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने राज्यपाल लालजी टंडन को दो दिन तक चले राइट टू हेल्थ मंथन का संकल्प पत्र सौंपा. स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट ने न्यूज़ 18 से खास बातचीत करते हुए कहा कि सरकार जल्द ही मध्य प्रदेश के लोगों को राइट टू हेल्थ देगी.

राइट टू हेल्थ की दिशा में हो रहे काम
आयोजन के पहले दिन राइट टू हेल्थ के तहत 3 योजनाएं लागू की गईं.
Loading...

>> शक्ति योजना- यह योजना महिलाओं के स्वास्थ्य पर केंद्रित है
>> टीबी फ्री स्कीम- इस योजना से एमपी को 2025 तक टीबी फ्री करने का लक्ष्य है
>> पालमेटिव स्कीम- त्वचा संबंधी बीमारियों से बचाव के लिए सरकारी प्रोग्राम

ऐसा होगा राइट टू हेल्थ कानून
पीपीपी प्रोजेक्ट पर तैयार होने वाली इस योजना में करीब 1 करोड़ 88 लाख लोगों को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है. इसमे 4 सदस्यों के एक परिवार को आधार माना गया है. गंभीर बीमारियों के लिए यह अधिकार लागू रहेगा. इस योजना का अनुमानित बजट 1900 करोड़ रखा गया है.

ये भी पढ़ें -
मंत्री तरुण भनोत ने पेंशन घोटाले में दिए कड़ी कार्रवाई के संकेत, शिवराज पर भी साधा निशाना
किसान आंदोलन पर बीजेपी की रणनीति, अलग अलग ज़िलों में सरकार को घेरेंगे राकेश सिंह, कैलाश विजयवर्गीय और शिवराज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 6:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...