MP: सरकार और जूडा के बीच गतिरोध जारी, बेनतीजा रही चर्चा, इस मुद्दे पर अटक गई बात

मध्य प्रदेश: जूनियर डाक्टर्स की हड़ताल पर घमासान जारी.

मध्य प्रदेश: जूनियर डाक्टर्स की हड़ताल पर घमासान जारी.

चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने साफ कर दिया कि हाईकोर्ट के आदेश हैं कि जूनियर डॉक्टर 24 घंटे के अंदर काम पर लौटें. जूडा से जुड़ी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश पर टास्क फोर्स बनाई गई है. मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली टास्कफोर्स के सामने जूनियर डॉक्टर अपने मुद्दों को रख सकते हैं. जूनियर डाक्टर्स बिना मांगे माने जाने के हड़ताल खत्म करने तैयार नहीं.

  • Share this:

भोपाल. मध्य प्रदेश ( Madhya Pradesh) में जूनियर डॉक्टरों ( Junior Doctors) का आंदोलन फिलहाल खत्म होने का नाम नहीं ले रहा. आंदोलन खत्म करने को लेकर प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से रविवार को जूनियर डॉक्टरों के प्रतिनिधि दल ने मुलाकात की. मंत्री सारंग के निवास पर पहुंचे. जूनियर डॉक्टरों ने अपनी मांगों को लेकर मंत्री सारंग से चर्चा की. चर्चा के बाद चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने साफ कर दिया कि हाईकोर्ट के आदेश हैं कि जूनियर डॉक्टर 24 घंटे के अंदर काम पर लौटें. सरकार ने जूनियर डॉक्टरों की मांग को पूरा करने का भरोसा दिया है. जूडा से जुड़ी समस्याओं को लेकर हाईकोर्ट के निर्देश पर टास्क फोर्स बनाई गई है. मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली टास्कफोर्स के सामने जूनियर डॉक्टर अपने मुद्दों को रख सकते हैं. सरकार जूनियर डॉक्टरों की समस्याओं के समाधान करने के पक्ष में हैं, लेकिन जूनियर डॉक्टरों को हाईकोर्ट के निर्देशों का पालन करना चाहिए और अपना आंदोलन खत्म करना चाहिए.

वहीं मंत्री सारंग से चर्चा के बाद जूनियर डॉक्टरों ने कहा है कि उनका आंदोलन फिलहाल जारी रहेगा. जूडा अध्यक्ष अरविंद मीणा ने कहा है कि वह सरकार से लिखित में आदेश चाहते हैं. आदेश निकलने के बाद ही आंदोलन खत्म होगा. मंत्री सारंग के साथ हुई चर्चा पर जूनियर डॉक्टरों ने कहा है कि मंत्री विश्वास सारंग ने उन्हें उनकी मांगों के समाधान का भरोसा दिलाया है, लेकिन उनकी मांग है कि उनके समस्याओं का समाधान तत्काल किया जाए. जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि हाईकोर्ट के आदेश का वह सम्मान करते हैं, लेकिन जब तक सरकार लिखित में आदेश जारी नहीं करती है तब तक वह काम पर नहीं लौटेंगे.

बहरहाल सरकार और जूनियर डॉक्टरों के बीच बीच 7 दिनों से चल रहा गतिरोध फिलहाल खत्म होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ सरकार ने अब एक्शन मोड पर आने की तैयारी शुरू कर दी है. इसकी शुरुआत में कई जूनियर डॉक्टरों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए गए हैं तो अब हॉस्टल में रह रहे जूडा को हॉस्टल खाली करने के नोटिस दिए गए हैं. वीकेंड खत्म होने के बाद सोमवार को सरकार का क्या एक्शन होता है और क्या बीते 7 दिनों से चल रहा गतिरोध खत्म होगा, इसके आसार कम दिख रहे हैं. अब यदि जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल लंबी चलती है तो इसका असर स्वास्थ्य सेवाओं पर जरूर नजर आएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज