Home /News /madhya-pradesh /

Lockdown के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे MP के हज़ारों मज़दूर घर लौटे

Lockdown के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे MP के हज़ारों मज़दूर घर लौटे

लॉक डाउन के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे प्रवासी मजदूर घर लौट आए

लॉक डाउन के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे प्रवासी मजदूर घर लौट आए

एमपी (mp) में प्रवेश करते ही सीमा पर स्थित ज़िला मुख्यालयों में इनके चैकअप और खान-पान की व्यवस्था की गयी थी.यहां से इन्हें इनके घरों के लिए रवाना कर दिया गया.

    भोपाल.लॉक डाउन (LOCKDOWN) के कारण दूसरे प्रदेशों में फंसे मध्यप्रदेश (madhya pradesh) के मज़दूरों (labour) का घर लौटने का सिलसिला जारी है. मंगलवार को दिन भर इनके आने का सिलसिला चलता रहा. इनकी संख्या हज़ारों में है. ये मज़दूर राजस्थान,गुजरात और हरियाणा में फंसे थे. सरकार ने इनके घर लौटने का इंतज़ाम किया है. एमपी (mp) में प्रवेश करते ही सीमा पर स्थित ज़िला मुख्यालयों में इनके चैकअप और खान-पान की व्यवस्था की गयी थी.यहां से इन्हें इनके घरों के लिए रवाना कर दिया गया.

    जैसलमेर से भोपाल पहुंचे 400 मज़दूर
    भोपाल और आसपास के इलाकों के करीब 400 मज़दूर राजस्थान के जैसलमेर में फंसे थे. सरकार की मदद से ये सभी मंगलवार को भोपाल लौट आए. इन्हें गांधी नगर थाना क्षेत्र के 4 स्कूल कॉलेजों में ठहराया गया. ऑलसेंट्स कॉलेज, फादर एगनल स्कूल, होली फेमिली सीनियर सेकेंडरी स्कूल शांति नगर और सागर पब्लिक स्कूल गांधी नगर में मजदूरों के ठहरने की व्यवस्था की गयी थी.यहां इनके चैकअप और खाने की व्यवस्था की गयी थी.

    उज्जैन के 800 मज़दूर लौटे
    उज्जैन के करीब 800 मज़दूर मंगलवार को घर लौट आए. ये राजस्थान के अलग अलग शहरों में मजदूरी करने गए थे. लॉक डाउन में फंसने के बाद उज्जैन सांसद अनिल फ़िरोजिया ने प्रशासन के सहयोग से 7 बसों के माध्यम से इन्हें निकलवाया.

    आगर मालवा में लगा कैंप
    आगर मालवा के भी करीब 250 मज़दूर राजस्थान में फंसे थे. उन्हें भी 7 बसों के ज़रिए वापस बुलाया गया. सीमा पर इनके लिए कैंप बनाए गए थे जहां सबका मेडिकल चैकअप किया गया. जांच के बाद सबको खाना खिलाया गया. कलेक्टर संजय कुमार सहित आला अधिकारी मौके पर मौजूद रहे और व्यवस्था देखी. यहां से इन मज़दूरों को उनके घर भेजा गया.

    नीमच में दोनों ओर से भीड़
    नीमच में एमपी-राजस्थान सीमा पर नयागांव बॉर्डर पर करीब 5 हज़ार मज़दूर पहुंचे. इनमें से साढ़े तीन हज़ार मज़दूर राजस्थान से मध्य प्रदेश आने वाले थे और डेढ़ हज़ार मज़दूर राजस्थान के थे जो मध्य प्रदेश में फंसे हुए थे. दोनों राज्यों की सीमा पर दोनों तरफ से इनके लिए करीब 200 बसें लगायी गयी थीं.

    हरियाणा से 1500 की वापसी
    हरियाणा में फंसे 1500 मज़दूरों की भी घर वापसी हो रही है. इन्हें लेने 45 बसें भेजी गयी थीं. ये मज़दूर हरियाणा के अलग-अलग शहरों में काम कर रहे थे. इनमें से ज़्यादातर निर्माण कार्य करने वाले ठेका मज़दूर है, जो लॉक डाउन के कारण वहीं फंसे रह गए थे.

    ये भी पढ़ें-

    कोरोना को हराने वाले डॉक्टर से प्लाज्मा डोनर बने डॉ मुंशी की ये है कहानी

    Tags: CM Shivraj Singh Chouhan, Corona epidemic, Labour minister, Lockdown. Covid 19, Madhya pradesh news, Migrant labour

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर