भोपाल में फंसे मज़दूरों से छ्त्तीसगढ़ सरकार ने कहा हम नहीं बुलाएंगे वापस क्योंकि...
Bhopal News in Hindi

भोपाल में फंसे मज़दूरों से छ्त्तीसगढ़ सरकार ने कहा हम नहीं बुलाएंगे वापस क्योंकि...
भोपाल में छत्तीसगढ़ के प्रवासी मज़दूर फंसे

छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव (T S Singhdev) साफ कह दिया कि भूपेश बघेल सरकार ने हॉटस्पॉट (hot spot) वाले शहरों से मजदूरों की वापसी पर रोक लगा कर रखी है. ऐसे में मध्यप्रदेश के भोपाल और इंदौर में फंसे मजदूरों की वापसी फिलहाल नहीं हो सकेगी

  • Share this:
भोपाल. देश भर में मज़दूरों (migrant labours) की घर वापसी के बीच छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) के कुछ मज़दूर अपने घर नहीं लौट पा रहे हैं. ये मज़दूर भोपाल में फंसे हैं. इनका पैसा और राशन पानी खत्म हो रहा है, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार इन्हें वापस बुलाने के लिए तैयार नहीं. सरकार का कहना है भोपाल और इंदौर कोरोना हॉट स्पॉट (hot spot) शहर हैं इसलिए वहां से हम मज़दूर वापस नहीं बुलाएंगे. हां उन्हें राशन और पैसे की मदद पहुंचा दी जाएगी.

देशभर में मजदूर अपने घरों की ओर वापसी कर रहे हैं. राज्य सरकारें समन्वय बनाकर अपने मजदूरों की घर वापसी सुनिश्चित करने में लगी हैं. भोपाल से बड़ी संख्या में मजदूर प्रदेश के अलग-अलग जिलों और दूसरे राज्यों के लिए रवाना हुए हैं और बाहरी राज्यों से घर लौट रहे हैं. लेकिन राजधानी भोपाल में छत्तीसगढ़ के सैकड़ों मजदूर अभी भी फंसे हुए हैं. अलग-अलग जगह निर्माण कार्यों में लगे यह मजदूर लॉक डाउन होने के बाद से काम बंद होने पर परेशान हैं. इनकी छत्तीसगढ़ सरकार से गुहार है कि वो उन्हें वापस बुला ले. इनमें बिलासपुर रायपुर और दूसरे जिलों के मजदूर शामिल हैं.

राशन-पैसा सब खत्म
इन मजदूरों का कहना है लॉक डाउन होने के बाद से उनका काम पूरी तरीके से बंद हो गया है. अब उनके पास खर्चे के लिए पैसे नहीं बचे हैं. किसी मजदूर के पास ₹60, किसी के पास ₹200 और किसी के पास ₹500 ही बचे हैं. घर में राशन भी खत्म हो गया है. ऐसे में अब लंबे समय तक बिना काम धंधे के रुक पाना उनके लिए मुमकिन नहीं है. मजदूरों का कहना है वह हर स्तर पर छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश सरकार से वापसी की अपील कर चुके हैं, लेकिन अभी तक किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया. अब उनके सामने जीवन यापन का संकट खड़ा हो रहा है.
छत्तीसगढ़ सरकार का टका सा जवाब


वहीं छत्तीसगढ़ के मजदूरों से मिलने पहुंचे कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने मजदूरों की मोबाइल के जरिए छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव से फोन पर चर्चा कराई. सिंहदेव ने साफ कह दिया कि भूपेश बघेल सरकार ने हॉटस्पॉट वाले शहरों से मजदूरों की वापसी पर रोक लगा कर रखी है. ऐसे में मध्यप्रदेश के भोपाल और इंदौर में फंसे मजदूरों की वापसी फिलहाल नहीं हो सकेगी. हालांकि उन्होंने इन मजदूरों को आर्थिक मदद पहुंचाने और स्थानीय स्तर पर राशन मुहैया कराने का भरोसा दिलाया है.लेकिन उनकी वापसी पर कोई वादा नहीं किया.

बीजेपी का बयान
वही बीजेपी नेता विश्वास सारंग ने कहा है कि भोपाल से दूसरे राज्यों के लिए लगातार मजदूरों की वापसी हो रही है स्वास्थ्य परीक्षण के बाद मजदूरों को उनके घर पहुंचाया जा रहा है. अगर छत्तीसगढ़ सरकार मजदूरों को वापस लेने के लिए समन्वय बनाती है तो मध्य प्रदेश सरकार पूरा सहयोग करेगी. अपने मजदूरों को वापस लेने से कतराना ठीक नहीं है.

ये भी पढ़ें-

Vande Bharat Mission: MP के लोगों को लेकर विशेष विमान आज आएगा भोपाल

लॉकडाउन में होटल हो गया बंद, बेरोजगार हुए युवक ने खुद में लगाई आग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading