लाइव टीवी

MP के गृह मंत्री के साथ मंच पर नजर आए ई-टेंडर घोटाले की जांच में फंसे आरोपी, EOW कर चुका है पूछताछ
Bhopal News in Hindi

Manoj Rathore | News18 Madhya Pradesh
Updated: January 10, 2020, 10:42 AM IST
MP के गृह मंत्री के साथ मंच पर नजर आए ई-टेंडर घोटाले की जांच में फंसे आरोपी, EOW कर चुका है पूछताछ
ई-टेंडर घोटाले की जांच में फंसे विजय सिंह वर्मा का मंत्री ने किया सम्‍मान.

ई-टेंडर घोटाले (E-Tender Scam) के विवाद में फंसे विजय सिंह वर्मा के साथ आज मध्‍य प्रदेश के गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन (Bala Bachchan) ने मंच साझा किया. यही नहीं, जब वर्मा को मेडल लेने के लिए बुलाया गया तो मंच पर मौजूद मंत्री समेत सभी लोग खड़े भी हुए थे.

  • Share this:
भोपाल. डी जी डिस्क सम्मान समारोह में ई-टेंडर घोटाले (E-Tender Scam) के विवाद में फंसे विजय सिंह वर्मा आज गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन (Bala Bachchan) के साथ मंच पर मौजूद रहे. इतना ही नहीं जेल विभाग ने उनका सम्मान भी किया. आपको बता दें कि विजय सिंह वर्मा लोक निर्माण विभाग की परियोजना क्रियान्वयन इकाई 'पीआईयू' (प्रोजेक्ट इम्प्लीमेंटेशन यूनिट) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर हैं.

63 अधिकारी-कर्मचारियों का सम्‍मान
सम्मान समारोह में मंत्री बाला बच्चन ने विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर डीजी डिस्क मेडल 63 अधिकारी कर्मचारियों को सराहनीय कार्य करने के लिए दिए. गृह मंत्री ने अफसरों के साथ अंडा सेल, नवीन मुलाकात कक्ष और मुलाकात प्रतीक्षालय का निरीक्षण भी किया. अंडा सेल का निर्माण पीआईयू ने किया है. इसलिए विभाग ने डायरेक्टर विजय सिंह वर्मा को बुलाया गया था. लेकिन सवाल उठ रहा है कि जो अफसर ई-टेंडर घोटाले में विवादित हैं और उन पर गंभीर आरोप हैं. ईओडब्ल्यू उनके कई बार बयान भी ले चुकी है. नोटिस देकर पूछताछ भी हो गई है. ऐसे अधिकारी को सम्मान समारोह में बुलाना कितना ठीक है. ई-टेंडर घोटाले में पीआईयू से जुड़े एक टेंडर में एफआईआर दर्ज है. आरोप है कि विजय सिंह वर्मा के डिजिटल सिग्नेचर का किसी दूसरे व्यक्ति ने इस्तेमाल किया. हालांकि बयान में वर्मा ने बताया कि काम का लोड ज्यादा होने की वजह से उन्होंने अपने अधीनस्थ कर्मचारियों को डिजिटल सिग्नचर का अधिकार दिया था, लेकिन इस सिग्नचर से टेंडर में गड़बड़ी हुई. कंपनी ने गड़बड़ी की और उसके अधिकारियों को गिरफ्तार भी किया गया.

मंचासीन थे विक्रम सिंह वर्मा

जिस समय सम्मान समारोह चल रहा था, उस समय ई-टेंडर महाघोटाले की जांच में घिरे पीआईयू के प्रोजेक्ट डायरेक्टर विजय सिंह वर्मा भी गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन के साथ मंचासीन नजर आए. मंच पर विभाग के पीएस, सचिव, डीजी समेत कई अफसर मौजूद थे. मंच पर जेल विभाग की तरफ से एडीजी जीआर मीणा ने पीआईयू द्वारा केंद्रीय जेल परिसर में किए गए निर्माण कार्यों को लेकर वर्मा का सम्मान किया. वर्मा के सम्मान में खुद गृह मंत्री और तमाम अफसर खड़े हो गए.

तीन बार हो चुकी है पूछताछ
विजय सिंह वर्मा से ईओडब्ल्यू तीन बार नोटिस देकर पूछताछ कर चुकी है. वर्मा के डिजीटल सिग्नेचर की से ही पीआईयू के एक टेंडर में बिड वैल्यू बदली गई थी. इसके बाद से ही ईओडब्ल्यू वर्मा की भूमिका की भी जांच कर रहा है. अभी इस मामले की जांच जारी है और जिन नौ टेंडर में एफआईआर दर्ज की गई, उनके अलावा भी कई टेंडरों में एफआईआर हो रही है. 

ये भी पढ़ें-

मध्‍य प्रदेश में बनेंगी 10 नई जेल- मंत्री बाला बच्‍चन

 

कांग्रेस सरकार को शिवराज की चेतावनी- कैलाश विजयवर्गीय की गिरफ्तारी हुई तो...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 9, 2020, 9:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर