MP: प्रदेश के आंगनबाड़ी केंद्र बनेंगे ‘स्मार्ट’, महिला बाल विकास विभाग ने तैयार किया योजना का ब्लू प्रिंट

राज्य में शिक्षा की बदहाली और कुपोषण पर लगाम लगाने के लिए प्रदेश सराकर नई योजनाएं लाने की तैयारी में है. योजना का ब्लू प्रिंट भी तैयार कर लिया गया है.

Pooja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 28, 2019, 1:05 PM IST
Pooja Mathur | News18 Madhya Pradesh
Updated: June 28, 2019, 1:05 PM IST
मध्य प्रदेश को स्मार्ट बनाने की राह पर अब महिला बाल विकास विभाग ने भी कदम उठाए हैं. निजी स्कूलों की तर्ज पर अब हर जिले में आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र बनाए जाने की तैयारी है. बच्चों को बेहतर सुविधा मिल सके इसके लिए महिला बाल विकास विभाग ने योजना का ब्लू प्रिंट तैयार किया है. योजना को शुरू करने का लक्ष्य बच्चों का शारीरिक, भाषायी, संज्ञानात्मक, सौंदर्य बोध और सामाजिक विकास करना है. इसके लिए शिक्षा विभाग से भी मदद ली जा रही है.

राज्य में शिक्षा की बदहाली और कुपोषण पर लगाम लगाने के लिए प्रदेश सराकर नई योजनाएं लाने की तैयारी में है. योजना का ब्लू प्रिंट भी तैयार कर लिया गया है. प्रदेश में अब स्मार्ट आंगनबाड़ी केन्द्र खोलने की योजना बनाई गई है. सरकारी स्कूलों में प्री-नर्सरी खोलने की जगह अब प्रदेश की करीब 97 हजार आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल की तर्ज पर विकसित किया जाएगा. इसके लिए महिला एवं बाल विकास और स्कूल शिक्षा विभाग मिलकर इस योजना को अंजाम देंगे.

योजना से बच्चों को ये सुविधाएं मिलेंगी-

- 3 से 6 वर्ष तक के बच्चों पर महिला एवं बाल विकास विभाग का खास फोकस

- स्मार्ट आंगनबाड़ियों के बच्चों के लिए बनाया जा रहा स्पेशल सिलेबस

- आंगनबाड़ी में आने वाले बच्चों के शारीरिक, भाषायी, संज्ञानात्मक, सौंदर्य बोध और सामाजिक विकास पर होगा फोकस

- केंद्रों में इंडोर और आउटडोर गेम्स भी होंगे शामिल
Loading...

- पोषण आहार के बदले जाएंगे मीनू

- बच्चों को आकर्षित करने वाली होंगी रंगीन दीवारें ,ज्ञानवर्धक पेंटिंग से होगी सजावट

- शौचालय, कक्षा, रसोईघर का निर्माण, खेल उपकरण, खिलौना, डिस्प्ले बोर्ड, कम्प्यूटर सब कुछ होगा उपलब्ध

- आंगनवाड़ी केंद्रों की होगी कड़ी मॉनीटरिंग

कलेक्टर ने आंगनवाड़ी केंद्र में अपनी बेटी का कराया एडमिशन-

बता दें कि हाल ही में कटनी कलेक्टर ने अपनी बेटी का एडमिशन आंगनवाड़ी केंद्र में करवाया है. आगे भी अधिकारी और मंत्री अपने बच्चों का एडमीशन करा सकें इसके लिए विभाग तैयारियों में जुटा है. भोपाल जिले के 1872 आंगनवाड़ी केंद्रों को भी स्मार्ट आंगनबाड़ी केन्द्र में विकसित किया जाएगा.

निजी स्कूलों जैसी सुविधा करेंगे सुनिश्चित-

महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी ने न्यूज 18 से खास बातचीत में बताया कि इस योजना को बहुत जल्द धरातल पर लाएंगे. हमारा प्रयास है कि बच्चों को पोषणयुक्त भोजन के साथ बेहतर शिक्षा मिल सके. आंगनवाड़ी केंद्रों को निजी स्कूलों जैसी सुविधाओं से लैस किया जाएगा, ताकि हर गरीब के बच्चे को भी बेहतर सुविधा मिल सके.

ये भी पढ़ें- मानवता शर्मसार: पहले आदिवासी विधवा के साथ किया रेप, फिर निर्वस्त्र कर गांव में घुमाया

ये भी पढ़ें-बैटिंग’ कांड पर मालिनी गौड़ ने कहा, आकाश को पहले मुझसे बात करनी चाहिए थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए भोपाल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 28, 2019, 12:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...