लाखों करोड़ के कर्ज में प्रदेश, फिर भी मंत्रियों ने बंगले सजवाने में खर्चे 3 करोड़ 68 लाख

पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा द्वारा किए गए सवाल के जवाब में पता चला है कि मंत्रियों के बंगले को सजाने में 3 करोड़ 68 लाख रुपए खर्च हुए हैं.

News18 Madhya Pradesh
Updated: July 12, 2019, 1:12 PM IST
लाखों करोड़ के कर्ज में प्रदेश, फिर भी मंत्रियों ने बंगले सजवाने में खर्चे 3 करोड़ 68 लाख
लाखों करोड़ के कर्ज में प्रदेश, फिर भी मंत्रियों ने बंगले सजवाने में खर्चे 3 करोड़ 68 लाख
News18 Madhya Pradesh
Updated: July 12, 2019, 1:12 PM IST
मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर एक तरफ लाखों करोड़ का कर्जा है, तो वहीं मंत्रियों के बंगलों की साज-सज्जा में करोड़ों खर्च किए जा रहे हैं. विधानसभा सत्र के दौरान पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक नरोत्तम मिश्रा द्वारा किए गए सवाल के जवाब में पता चला है कि मंत्रियों के बंगले को सजाने में 3 करोड़ 68 लाख रुपए खर्च हुए हैं. इसमें भी ज्यादा खर्च चार इमली स्थित सूबे के वित्त मंत्री तरुण भनोट के बंगलें को सजाने में किया गया है. वित्त मंत्री के बंगले पर तकरीबन 45 लाख 30 हजार 606 रुपए खर्च किए गए हैं.

जानकारी के मुताबिक सीएम के बंगले पर 6.30 लाख 97 हज़ार रुपये, मंत्री सज्जन वर्मा के बंगले पर 42 लाख 68 हज़ार 727 रुपये, ओमकार सिंह मरकाम के बंगले पर 20 लाख 77 हजार 781, जयवर्धन सिंह के बंगले पर  6 लाख 64 हजार 537, लखन घनघोरिया के बंगले पर 14 लाख 39 हजार 459, गोविंद सिंह राजपूत के बंगले पर 9 लाख 8 हज़ार 920 रुपये, लाखन सिंह यादव के बंगले पर 35 लाख 95 हज़ार 341, पी सी शर्मा के बंगले पर 25 लाख 59 हज़ार 717 रुपये, आरिफ अकील के बंगले पर 5 लाख 36 हज़ार 664 रुपये, तुलसी सिलावट के बंगले पर 11 लाख 39 लाख 504 रपुये खर्च किए गए. इसी तरह कई अन्य मंत्रियों के बंगले की साफ-सफाई और साज-सज्जा के नाम पर करोड़ों रुपये खर्ज किए गए हैं.



बीजेपी ने बंगलों को रहने लायक नहीं छोड़ा था-

प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है कि बीजेपी ने अपने 15 साल के कार्यकाल में मंत्रियों के बंगले को जर्जर कर दिया था. ये बंगले रहने लायक भी नहीं रह गए थे. बंगलों में नल की टोटियां तक सहीं हालत में नहीं थी. ऐसे में बंगले की मरम्मत जरूरी थी. बंगलों को मंत्रियों के रहने लायक बनाने के लिए ये पैसे खर्च किए गए हैं.

पीडब्ल्यूडी मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है बंगलों के जर्जर हालत के लिए बीजेपी के कार्यकाल में रहे मंत्री जिम्मेदार हैं.


बीजेपी ने बताया फिजुलखर्ची-

वहीं, बीजेपी को प्रदेश सरकार को फिजुलखर्ची पर घेरने का मौका मिल गया है. बीजेपी का कहना है कि कमलनाथ सरकार ने 3 करोड़ से ज्यादा की राशि केवल मंत्रियों के बंगले सजाने में खर्च कर दी है. जबकि प्रदेश का खजाना खाली है. शिवराज सरकार की योजनाओं को बंद किया जा रहा है.
Loading...

करीब दो लाख करोड़ का कर्ज-

बुधवार को राज्य का बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री तरुण भनोट ने बताया था कि CAG की रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश पर 31 मार्च 2018 तक 1,52,745 करोड़ रुपए का कर्ज था जो 31 मार्च 2019 तक 1,80,988 करोड़ तक पहुंचने का अनुमान है.

ये भी पढे़ं-..मैं पति के साथ रहना चाहती हूं, मुझे मेरे आशिक से बचा लो

ये भी पढे़ं-गौतस्करी मामला: भड़काऊ मैसेज भेजने पर अब जाना पड़ेगा जेल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...