वैक्सीनेशन पर अफवाह फैलाई तो होगी जेल, जानिए एमपी पुलिस का क्या है प्लान

सोशल मीडिया पर भ्रम और अफवाह फैलाने वालों को अब जेल होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

सोशल मीडिया पर भ्रम और अफवाह फैलाने वालों को अब जेल होगी. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कोरोना वैक्सीनेशन पर भ्रम या अफवाह फैलानेंवालों के खिलाफ मप्र पुलिस बड़ी कार्रवाई कर सकती है. पुलिस ने चेतावनी और एडवाइजरी जारी कर अफवाहों से बचने की अपील की है.

  • Last Updated: June 4, 2021, 12:05 PM IST
  • Share this:

भोपाल. अब जो भी वैक्सीनेशन को लेकर प्रदेश में भ्रम फैलाएगा उसे जेल जाना पड़ सकता है. वैक्सीनेशन को लेकर सोशल मीडिया पर भ्रम और अफवाहें प्रदेश सरकार और पुलिस प्रशासन के लिए सरदर्द बन गई है.

साइबर पुलिस का कहना है कि कोरोना वैक्सीन को लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह के भ्रम और अफवाह फैलाने वाली जानकारियां दी जा रही है. इन जानकारियों की वजह से लोग वैक्सीनेशन से बाख रहे हैं. अब साइबर क्राइम पुलिस ऐसे लोगों की पहचान करेगी. पुलिस ने चेतावनी के साथ एडवाइजरी भी जारी की है.

इसलिए दी चेतावनी

भोपाल क्राइम ब्रांच के एडिशन एसपी गोपाल धाकड़ ने बताया कि चेतावनी इसलिए जारी की गई ताकि लोग सावधान रहें. उन्हें पता चले कि अगर इस तरीके की जानकारी सोशल मीडिया पर डाली, तो उनके खिलाफ क्या कार्रवाई होगी. एडवाइजरी इसलिए जारी की गई ताकि लोग ऐसी जानकारियों से बच सकें.
इन धाराओं में दर्ज होगी FIR

पुलिस के मुताबिक, ऐसे लोगों के खिलाफ आपदा प्रबंधन और आईटी एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज किया जाएगा. पुलिस भारतीय दंड विधान की विभिन्न धाराओं 188, 153ए, 153 बी, आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 54 और आईटी एक्ट की धारा 67 और 66 एफ के तहत FIR दर्ज करेगी.

ये एडवाइजरी की जारी



पुलिस ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि कोई भी जानकारी मिलने पर उसको फ़ौरन फॉरवर्ड ना करें. जानकारी को ध्यान से पढ़ें और तथ्यों की जांच करें. सही पाए जाने पर ही फॉरवर्ड करें. सोशल मीडिया का इस्तेमाल पूरी जिम्मेदारी से करें ताकि आप पुलिस की कार्रवाई से बच सकें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज