MP By-Election: मध्‍य प्रदेश उपचुनाव में 69.93 % मतदान, धार जिले की बदनावर सीट पर बना रिकॉर्ड

शिवराज और कमलनाथ अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं.
शिवराज और कमलनाथ अपनी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं.

मध्य प्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh By-Election) में अब तक 69.93 प्रतिशत मतदान हुआ है. जबकि धार जिले की बदनावर सीट पर 83.20 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 11:43 PM IST
  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव (Madhya Pradesh By-Election) में मतदान का समय खत्‍म हो गया है. हालांकि अभी राज्‍य की कई सीटों पर लाइन में लगे लोगों से मतदान करवाया जा रहा है. चुनाव अधिकारी के मुताबिक, साढ़े छह बजे तक 69.93 प्रतिशत मतदान हुआ है. यह 2018 विधानसभा चुनाव में इन सीटों पर हुए औसत मतदान की तुलना में तीन प्रतिशत कम है. मध्‍य प्रदेश में सबसे अधिक मतदान धार जिले की बदनावर सीट पर 83.20 प्रतिशत हुआ है. अगर मध्‍य प्रदेश में सबसे कम मतदान की बात करें तो ऐसा ग्वालियर ईस्ट में हुआ है, जहां 48.15 प्रतिशत वोट डाले गए हैं.

बदनावर ने बनाया रिकॉर्ड, तो ग्वालियर पूर्व क्षेत्र पिछड़ा
मध्‍य प्रदेश में सबसे अधिक मतदान धार जिले की बदनावर सीट पर 83.20 प्रतिशत हुआ है. जबकि सबसे कम मतदान ग्वालियर पूर्व सीट पर 48.15 प्रतिशत हुआ. इसके अलावा आगर मालवा में 80.54 प्रतिशत, अंबाह में 54.30, अनूपपुर में 67.60, अशोक नगर में 69.79, बमोरी में 78.84, भांडेर में 71.59, ब्यावरा में 80.01, डबरा में 66.68, दिमनी में 61.06, गोहद में 54.48, ग्वालियर में 56.15, ग्वालियर पूर्व में 48.15, हाटपिपल्या में 80.84, जौरा में 69, करेरा में 72.11, बड़ा मलहरा में 68.06, मंधाता में 73.44, मेहगांव में 61.18, मुरैना में 57.80, मुंगावली में 77.17, नेपानगर में 75.81, पोहरी में 70.05, सांची में 68.87, सांवेर में 74.34, सुमावली में 63.04, सुरखी में 70.55 और सुवासरा में 79.97 प्रतिशत मतदान हुआ है.

28 सीटों के उपचुनाव में शिवराज सिंह चौहान, ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ की साख दांव पर है. बीजेपी के स्टार प्रचारक शिवराज और सिंधिया ने जमकर प्रचार किया तो वहीं कांग्रेस की तरफ से कमलनाथ की साख दांव पर लगी हुई है. इस उपचुनाव में 12 मंत्रियों समेत 355 उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर लगी हुई है. प्रदेश के इतिहास में पहली बार इतनी बड़ी संख्या में सीटों पर उपचुनाव हो रहा है. सबसे ज्यादा फोकस ग्वालियर-चंबल इलाके की 16 विधानसभा सीटों पर है.




मध्य प्रदेश विधानसभा में कुल 230 सीटें हैं जबकि वर्तमान में इसकी प्रभावी सदस्य संख्या 229 हैं क्योंकि 28 सीटों पर उपचुनाव की घोषणा के बाद हाल ही में एक और कांग्रेस विधायक दमोह से राहुल लोधी त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल हो गये. सदन में भाजपा के 107 विधायक हैं और भाजपा को सदन में साधारण बहुमत का आंकड़ा 115 तक पहुंचने के लिये आठ सीटें और चाहिए. इस साल मार्च माह के बाद से कुल 25 कांग्रेसी विधायकों के त्यागपत्र देने और भाजपा में शामिल होने के बाद सदन में कांग्रेस की संख्या घटकर 87 रह गयी है. इसके अलावा सदन में चार निर्दलीय, दो बसपा और एक सपा के विधायक हैं.

उपचुनाव में सुरक्षा का रहा कड़ा पहरा
>>28 विधानसभा सीटों पर केंद्रीय पुलिस बलों की 84 कंपनियां तैनात की गईं थीं. एक कंपनी में 100 जवान की तैनाती होती है.
>> कुल 38 हजार पुलिस फोर्स तैनात की गई थी.
>>ग्वालियर चंबल संभाग में कुल फोर्स का 60 फीसदी 22800 पुलिस जवान तैनात किए गए थे.
>>2500 SAF जवान, 10 हजार जिला पुलिस बल, 7 हजार होमगार्ड, 10 हजार विशेष पुलिस अधिकारी,
250 उड़न दस्ते की टीम, 173 स्टेटिक सर्विलांस टीम, कई विधानसभाओं में ड्रोन से सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज