मध्यप्रदेश में 18 वर्ष से ऊपर के लोगों को फ्री में लगाया जाएगा एंटी कोरोना वैक्सीन

एमपी में कोरोना के हालात बेहद चिंताजनक बने हुए हैं.

एमपी में कोरोना के हालात बेहद चिंताजनक बने हुए हैं.

Bhopal. सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि यदि कोरोना को हराना है तो संक्रमण की चेन तोड़ना पड़ेगी. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए घर पर ही रहना होगा.

  • Share this:
भोपाल. विकराल कोरोना संकट (Corona crisis) से जूझ रहे मध्य प्रदेश में सरकार युवाओं को भी मुफ्त में वैक्सीन लगवाएगी. सरकार ने ऐलान किया है कि 1 मई से 18 साल के ऊपर के लोगों को वो निशुल्क वैक्सीन की सुविधा देगी. ऑक्सीजन की भारी डिमांड को देखते हुए सरकार ने 5 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर दिए हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल में कैबिनेट की आपात बैठक बुलायी. इसमें तय किया गया कि प्रदेश में 1 मई से 18 वर्ष के ऊपर के लोगों का कोरोना टीकाकरण निशुल्क किया जाएगा. इसके अलावा 5 जिलों में ऑक्सीजन के प्लांट शुरू कर दिए गए हैं, जबकि 3 जिलों में 2 दिन में प्लांट शुरू हो जाएंगे. शिवराज सिंह चौहान ने मोहल्ले, कॉलोनी और गांव में कोरोना कर्फ्यू लगाने की अपील भी की है.

कैबिनेट की वर्चुअल मीटिंग

वर्चुअल कैबिनेट बैठक के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अपने अपने स्तर पर भी हमारे कुछ जनप्रतिनिधि साथी, कुछ कलेक्टर्स कोरोना से बचने के उपाय कर रहे हैं. कोशिशें  लगातार जारी हैं. इन परिस्थितियों में प्रधानमंत्री ने बहुत राहत भरी सौगात दी है कि एक मई से 18 साल से ऊपर के उम्र वालों को टीका लगेगा. भारत सरकार की डिटेल गाइडलाइन आएगी. लेकिन हमने फैसला किया है कि यहां सभी को निशुल्क ही टीका लगाया जाएगा. प्रदेश में टीकाकरण को भी व्यापक गति देना है.
कई जिलों में ऑक्सीजन प्लांट शुरू

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जानकारी दी कि खंडवा, शिवपुरी, उज्जैन और सिवनी जिले में ऑक्सीजन प्लांट शुरू कर दिये गए हैं. जबलपुर का ऑक्सीजन प्लांट के आज से शुरू होने की संभावना है. इंस्टालेशन का काम पूरा हो गया है. रतलाम, मंदसौर और मुरैना जिले में ऑक्सीजन प्लांट एक दो दिन में शुरू होने की संभावना है.

1000 बिस्तर  का अस्पताल बनना शुरू 



सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि बीना रिफायनरी ने ऑक्सीजन देने का वादा किया है. ऑक्सीजन की ढुलाई न करना पड़े इसलिए रिफायनरी प्लांट के पास ही 1000 बिस्तर का अस्पताल बनाना शुरू कर दिया गया है.

मजदूरों का ख्याल रखने का दावा...

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में मजदूर भाइयों और बहनों को काम देने की पूरी व्यवस्था की गई है. उन्हें कहीं जाने की जरूरत नहीं है. आज मनरेगा में 21 लाख मजदूर नियोजित हैं. उनकी हर संभव सहायता की जाएगी. 3 महीने का उन्हें निशुल्क राशन दिया जा रहा है. उन्हें मध्य प्रदेश से बाहर जाने की कोई जरूरत नहीं है. साथ ही मध्यप्रदेश में बाहर से आने वाले मजदूर भाई बहनों का पूरा ध्यान रखा जाएगा. चाय नाश्ता भोजन से लेकर जरूरत पड़ने पर काम देने तक का सारा इंतजाम करने का हम प्रयास करेंगे ताकि संकट के समय कोई दिक्कत और परेशानी ना हो.



मोहल्ले कॉलोनी गांव में कोरोना कर्फ्यू...

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने यह भी कहा कि यदि कोरोना को हराना है तो संक्रमण की चेन तोड़ना पड़ेगी. संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए घर पर ही रहना होगा. अपने गांव में कोरोना कर्फ्यू लगा दें सब घर पर ही रहेंगे. शहर में अपनी कॉलोनी या मोहल्ले में कोरोना कर्फ्यू लगा दें. 30 अप्रैल तक सब घर पर ही रहेंगे. ये कोरोना के खिलाफ युद्ध है जिसे बाहर निकल कर नहीं घर पर रहकर ही जीता जा सकता है. घर पर रहें और कोरोना को हराएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज