मध्य प्रदेश में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर विधानसभा में हंगामा, विपक्ष ने किया वॉकआउट

कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी की ओर से विधानसभा में महिलाओं के साछ छेड़छाड़ और अपराध की घटनाओं का मुद्दा उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा गया

Sharad Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 5:11 PM IST
मध्य प्रदेश में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर विधानसभा में हंगामा, विपक्ष ने किया वॉकआउट
File Photo
Sharad Shrivastava | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: March 14, 2018, 5:11 PM IST
मध्य प्रदेश की सियासत में महिला सुरक्षा का मुद्दा अभी कमजोर नहीं पड़ा है. महिला सुरक्षा के मुद्दे पर मध्य प्रदेश विधानसभा के बजट सत्र में जमकर हंगामा हुआ. विपक्ष की ओर से सदन में महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और अपराध का मुद्दा उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा गया. जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने हंगामा करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया.

महिला सुरक्षा के मुद्दे पर बुधवार को विधानसभा के बजट सत्र के दौरान विपक्ष ने एक बार फिर सरकार को घेरने की कोशिश की. कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी की ओर से विधानसभा में महिलाओं के साछ छेड़छाड़ और अपराध की घटनाओं का मुद्दा उठाते हुए सरकार से जवाब मांगा गया. सवालों पर गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह के जवाब से असंतुष्ट विपक्ष ने पहले तो हंगामा किया और फिर सदन से वॉक आउट कर दिया.

विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि सरकार महिला सुरक्षा के मुद्दे को लेकर गंभीर है और इस दिशा में कड़े कदम उठाए गए हैं. गृहमंत्री के मुताबिक, रेपिस्टों को फांसी देने वाला मध्य प्रदेश पहला राज्य बना है. इसके साथ ही महिलाओं के खिलाफ अपराध रोकने को लेकर सरकारी वैज्ञानिक और सामाजिक स्तर पर कोशिशें की जा रही है.

कड़े कानूनी प्रावधान और सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद राजधानी भोपाल के अलावा प्रदेश के अलग-अलग शहरों में लड़कियों के साछ छेड़छाड़ की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. यही वजह है कि विपक्ष इनके सहारे सरकार को घेरने की कोशिश में है. सवाल ये कि आखिर सियासत से इतर महिलाओं के खिलाफ अपराध कब रुकेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर