होम /न्यूज /मध्य प्रदेश /कांग्रेस से निष्कासित आजाद सिंह डबास का आरोप-दिग्विजय और कमलनाथ ने पुत्र मोह में डुबा दी पार्टी

कांग्रेस से निष्कासित आजाद सिंह डबास का आरोप-दिग्विजय और कमलनाथ ने पुत्र मोह में डुबा दी पार्टी

डबास ने पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर को पत्र लिखकर अपने निष्कासन का कारण पूछा है.

डबास ने पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर को पत्र लिखकर अपने निष्कासन का कारण पूछा है.

आजाद सिंह डबास (Dabas) ने कहा-मुझे 1 सप्ताह के अंदर निष्कासित करने का कारण नहीं बताए जाने पर मैं केंद्रीय नेतृत्व को प् ...अधिक पढ़ें

भोपाल. मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हुए उपचुनाव (MP Assembly By-elections) में हार से परेशान कांग्रेस (Congress) में अब घमासान और अंतर्कलह मची हुई है. जो अंदर हैं वो असंतोष फैला रहे हैं और जो बाहर कर दिए गए हैं वे आरोप लगा रहे हैं. कांग्रेस से निष्कासित रिटायर्ड आईएएस अफसर आजाद सिंह डबास (Azad Singh Dabas) ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) और दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) पर पार्टी को डुबाने का आरोप लगाया. डबास ने कहा-पुत्र मोह में ये दोनों नेता पार्टी को डुबा रहे हैं.

कांग्रेस से बाहर का रास्ता दिखाए जाने के बाद आजाद सिंह डबास ने पूर्व सीएम कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर काफी गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि दोनों ही नेताओं ने पार्टी पर ध्यान नहीं दिया और यही कारण रहा कि सरकार गिर गई. दोनों नेताओं का ध्यान अपने बेटों पर था. उन्होंने निष्कासन के पीछे कारण जानने के लिए पार्टी उपाध्यक्ष एवं संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर को पत्र लिखा है.

डबास ने दी चेतावनी
आजाद सिंह डबास ने पार्टी और संगठन को चेतावनी दी है कि यदि निष्कासन का स्पष्टीकरण पार्टी नहीं देती है, तो वह केंद्रीय नेतृत्व को 15 महीने में कांग्रेस की सरकार में हुए भ्रष्टाचार और सरकार गिरने की असल वजह को बताएंगे. इतना ही नहीं, उन्होंने तमाम तरीके के सवाल संगठन और पार्टी पर भी खड़े किए. डबास ने कहा मैंने पार्टी की रीति-नीति के खिलाफ कोई काम नहीं किया. पार्टी अपने अंदर कोई सकारात्मक सुधार नहीं लाना चाहती है.

हाईकमान को बताऊंगा सरकार गिरने के कारण
आजाद सिंह डबास ने गंभीर बात कही. उन्होंने कहा पार्टी ने 2023 वर्ष तक विपक्ष में रहना तय कर लिया है. पार्टी 2023 के विधानसभा चुनाव में 50 की संख्या भी पार नहीं कर पाएगी. कई फर्जी रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पार्टी में सत्ता की मलाई खाने के लिए आए. उन्होंने कहा कि मैं पार्टी में टाइमपास के लिए नहीं आया, बल्कि कुछ ठोस योगदान के लिए आया था. मेरे सुझाव को पार्टी हित में नहीं देखा गया. मुझे 1 सप्ताह के अंदर निष्कासित करने का कारण नहीं बताए जाने पर मैं केंद्रीय नेतृत्व को प्रदेश में 15 माह के कांग्रेसी शासन काल में हुए भ्रष्टाचार और सरकार गिरने के असली कारण बताऊंगा.

Tags: Digvijay singh, Kamal Nath government, Madhya Pradesh Congress

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें