• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • MP में तबादलों से रोक हटते ही ठगों की एंट्री, शिक्षा मंत्री के निज सचिव के नाम पर महिला प्रोफेसर से ठगे 75 हजार रुपये

MP में तबादलों से रोक हटते ही ठगों की एंट्री, शिक्षा मंत्री के निज सचिव के नाम पर महिला प्रोफेसर से ठगे 75 हजार रुपये

ठग ने महिला प्रोफेसर से 75 हजार  रुपये ठग लिए

ठग ने महिला प्रोफेसर से 75 हजार रुपये ठग लिए

Cyber Crime : महिला प्रोफेसर का जब पैसे देने के बाद भी ट्रांसफर नहीं हुआ तब उन्होंने मंत्री के कार्यालय आकर संपर्क किया. तब उन्हें पता चला कि जिस व्यक्ति को वह मंत्री का निज सचिव समझकर बात कर रही थीं, वह जालसाज है.

  • Share this:
भोपाल. मध्यप्रदेश में 1 जुलाई से तबादलों (Transfers) पर से रोक (Ban) हटते ही ठगों की भी एंट्री हो गयी है. जुलाई के महीने में खुले सरकारी विभागों में ट्रांसफर पोस्टिंग के साथ अब ठग गिरोह सक्रिय हो गए हैं. ट्रांसफर पोस्टिंग के नाम पर सरकारी अधिकारी कर्मचारियों को निशाना बनाया जा रहा है. एक ऐसा मामला उच्च शिक्षा विभाग में पकड़ा गया. विभाग के निज सचिव के नाम पर ठगों ने एक अफसर को ठग लिया लेकिन जल्दी ही खुलासा हो गया और अब ठग हिरासत में है.

प्रदेश में एक जुलाई से 31 जुलाई तक ट्रांसफर से बैन हटा है. सभी विभागों में प्रशासनिक और सामान्य तबादले किए जा रहे हैं. इस बीच ट्रांसफर, पोस्टिंग के नाम पर सरकारी कर्मचारियों को ठगने वाला गिरोह भी राजधानी में सक्रिय हो गया है. एक महिला प्रोफेसर से ट्रांसफर के नाम पर 75 हजार रुपए की ठगी की गई. मामले का खुलासा होने के बाद उच्च शिक्षा मंत्री के निज सचिव ने साइबर सेल में शिकायत कर दी. इस मामले की जांच के बाद क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस ने तुरंत ही आरोपी की लोकेशन भी ट्रेस कर ली.

महिला प्रोफेसर को ठगा
सायबर क्राइम ब्रांच के एसआई बृज किशोर गर्ग ने बताया कि उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव के निज सचिव विजय बुदवानी ने ठगी की शिकायत की. शिकायत में बताया कि उनके नाम पर महिला प्रोफेसर से एक जालसाज ने ट्रांसफर कराने के नाम पर 75 हजार रुपए ठग लिए हैं. महिला प्रोफेसर आभा पाण्डेय आर्ट एण्ड कामर्स कॉलेज जबलपुर में पदस्थ हैं. आरोपी ने मोबाइल पर संपर्क कर खुद को उच्च शिक्षा मंत्री का निज सचिव बताया था.

ट्रांसफर नहीं होने पर ठगी का खुलासा
महिला प्रोफेसर आभा पांडे का जब पैसे देने के बाद भी ट्रांसफर नहीं हुआ तब उन्होंने मंत्री के कार्यालय आकर संपर्क किया. तब उन्हें पता चला कि जिस व्यक्ति को वह मंत्री का निज सचिव समझकर बात कर रही थीं, वह जालसाज है. जिन नंबर पर आरोपी से महिला की बात हुई है पुलिस उसी मोबाइल नंबर के जरिए आरोपी की तलाश कर रही है. इस बीच उसने कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है जिनसे पूछताछ की जा रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज