• Home
  • »
  • News
  • »
  • madhya-pradesh
  • »
  • EXCLUSIVE : शांति के टापू MP में महिलाएं हो गयी हैं असुरक्षित! रोंगटे खड़े कर रहे हैं SCRB के आंकड़े

EXCLUSIVE : शांति के टापू MP में महिलाएं हो गयी हैं असुरक्षित! रोंगटे खड़े कर रहे हैं SCRB के आंकड़े

पीड़ितों में मासूम बच्चियों से लेकर बड़ी उम्र महिलाएं तक शामिल हैं.
.  (सांकेतिक तस्वीर)

पीड़ितों में मासूम बच्चियों से लेकर बड़ी उम्र महिलाएं तक शामिल हैं. . (सांकेतिक तस्वीर)

Bhopal. साल 2021 के पहले चार महीने में रेप (Rape) के मामले साल 2020 की तुलना में बढ़कर 40 फीसदी हो गए हैं. स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (SCRB) की रिपोर्ट के अनुसार 2020 के चार महीनों जनवरी, फरवरी, मार्च और अप्रैल में 1321 मामले सामने आए और साल 2021 में इन महीनों में यह संख्या बढ़कर 1841 हो गई.

  • Share this:
भोपाल. शांति का टापू कहा जाने वाला मध्य प्रदेश (MP) अब रेप (Rape Capital) की लगातार बढ़ती घटनाओं की वजह से दहलने लगा है. यहां महिलाओं पर लगातार बढ़ रहे अपराध ने सुरक्षा और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिये हैं. बीते चार महीनों के आंकड़ों पर अगर गौर करें तो रोंगटे खड़े हो जाते हैं. मासूम बच्चियों से लेकर बुजुर्ग महिलाएं तक सुरक्षित नहीं हैं. पिछले कुछ वर्षों की तुलना में यहां 40 फीसदी रेप के केस बढ़े हैं. यह खुलासा स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट के आंकड़ों के तहत हुआ है.

साल 2021 के पहले चार महीने में रेप के मामले साल 2020 की तुलना में बढ़कर 40 फीसदी हो गए हैं. स्टेट क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार 2020 के चार महीनों जनवरी, फरवरी, मार्च और अप्रैल में 1321 मामले सामने आए और साल 2021 में इन महीनों में यह संख्या बढ़कर 1841 हो गई.

पहले दोगुना फिर 40 फीसदी बढ़े
2019 की तुलना में साल 2020 में रेप के मामलों की संख्या लगभग दोगुनी हो गई थी.  2019 में जहां राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश में रेप के 2485 मामले सामने आए थे. वहीं 2020 में यह संख्या बढ़कर 4553 हो गई थी. साल 2021 में चार माह में महिलाओं के शील भंग का कृत्य 2908 और वर्ष 2020 में 2580 था।

साल 2020    रेप केस
जनवरी             372
फरवरी              385
मार्च                 358
अप्रैल                206
कुल                 1321
(SCRB के अनुसार)

साल 2021    रेप केस
जनवरी             494
फरवरी              436
मार्च                 508
अप्रैल                403
कुल                 1841
(SCRB के अनुसार)

मीटिंग का नतीजा जीरो
हाल ही में पुलिस महानिदेशक  विवेक जौहरी ने पुलिस मुख्‍यालय से वीडियो काँफ्रेंसिंग के माध्‍यम से प्रदेश के सभी जिला पुलिस अधीक्षकों, जोनल एडीजी, आईजी से चर्चा कर महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों, ऊर्जा डेस्‍क, महिला थाना और महिला डेस्‍क के कार्यों की समीक्षा की थी. उन्होंने महिलाओं के विरूद्ध होने वाले अपराधों की तत्काल जांच, अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी, समय पर चालान पेश करने समेत कई सख्त निर्देश दिए थे. इस तरह की मीटिंग पुलिस मुख्यालय, गृह विभाग से लेकर सरकार और जिले तक में समय-समय पर होती है, लेकिन यह तमाम मीटिंग उस समय जीरो साबित होती हैं, जब महिलाओं को लेकर इस तरीके के आंकड़े सामने आते हैं.

कांग्रेस का आरोप
लगातार प्रदेश में रेप केस बढ़ने पर कांग्रेस सरकार को घेर रही है. कांग्रेस नेता केके मिश्रा ने कहा प्रदेश देश की रेप कैपिटल बन गया है. यहां पर महिलाओं पर अत्याचार लगातार बढ़ रहा है. बीजेपी सिर्फ आरोप लगाती है. लेकिन यह आंकड़े सरकार के दावों की पोल खोलने के लिए काफी हैं. महिलाओं पर अपराध के साथ भ्रष्टाचार और माफिया का राज चरम पर है. वही बीजेपी के महामंत्री भगवानदास सबनानी ने कहा कांग्रेस के समय में महिला अपराध बढ़े थे. अब कांग्रेस बीजेपी से सवाल-जवाब कर रही है. बीजेपी सरकार में महिलाओं की सुनी जाती है. उनकी शिकायतों पर एफ आई आर दर्ज होती है इसलिए जरूर मामले बढ़े हुए आए हैं. सरकार महिला अपराध को लेकर  संवेदनशील है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज