भोपाल में लॉकडाउन: 185 लोगों के खिलाफ लगी धारा 188, 1260 लोगों पर स्पॉट फाइन

मध्य प्रदेश की राजधानी में पहले लॉकडाउन पर कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई.

मध्य प्रदेश की राजधानी में पहले लॉकडाउन पर कई लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई.

भोपाल में लॉकडाउन: शहर में चारों ओर सन्नाटा पसरा रहा. पुलिस लगातार करती रही पेट्रोलिंग और घरों में रहने की अपील. कई लोगों पर पुलिस ने धारा 188 के तरह कार्रवाई भी की. कई लोगों से स्पॉट फाइन वसूला गया.

  • Last Updated: March 22, 2021, 6:55 PM IST
  • Share this:
भोपाल. कोरोना की लगातार बढ़ती रफ्तार रोकने के लिए भोपाल में रविवार को लॉकडाउन लगाया गया. लॉकडाउन के दौरान भोपाल में चारों ओर सन्नाटा पसरा रहा. हालांकि, शासन-प्रशासन की इतनी पहल के बाद भी कई लोग नहीं सुधरे. ऐसे लोगों पर स्पॉट फाइन किया गया और धारा 188 के तहत कार्रवाई की गई.

जानकारी के मुताबिक एक ओर जहां 185 लोगों पर धारा 188 के तहत कार्रवाई की गई, वहीं दूसरी ओर गैर फेस मास्क लगाए बाहर घूमने वाले 1260 लोगों के खिलाफ  चालानी कार्रवाई की गई. इनसे 1,31,900 रूपए का स्पॉट फाइन वसूला गया. गौरतलब है कि लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने के लिए राजधानी में 200 से ज्यादा जगहों पर 3 हजार से अधिक अधिकारी/कर्मचारी मौजूद थे. इन्होंने चेकिंग में कोई कसर नहीं छोड़ी.

Youtube Video


पुलिस लगातार करती रही पेट्रोलिंग
प्रशासन ने पूरे शहर में करीब 1200 सीसीटीवी सर्विलांस कैमरों से भी लोगों की आवाजाही एवं गतिविधियों पर नजर रखी. सभी थानों की पुलिस लगातार पेट्रोलिंग करती रही और लगातार लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील करती रही. गौरतलब है कि कलेक्टर अविनाश लवानिया ने शहर में धारा 144 के आदेश दिए हैं.

परीक्षार्थी और मरीजों के परिजन हुए परेशान

रविवार को लॉकडाउन के कारण होटल-रेस्तरां बंद थे. ऐसे में बाहर से परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों और अस्पतालों में भर्ती परिजनों को खाने के लिए परेशान होना पड़ा. निगम ने भी शहर की छह दीनदयाल रसोइयां बंद कर दीं, जबकि ऐसे में समय में इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी. क्योंकि यहां पर रोजाना तीन हजार से ज्यादा लोग खाना खाने पहुंचते हैं. वसूली के लिए निगम के वार्ड और जोन कार्यालय खुले हुए थे. हालांकि बाद में सामाजिक संस्थाओं ने लोगों की भूख मिटाई.



23 मार्च को पूरे प्रदेश में 2 बार सायरन बजेगा

कोरोना के चलते तीन शहरों में लॉकडाउन के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फैसला किया है कि 23 मार्च को पूरे प्रदेश में 2 बार सायरन बजेगा. 2 मिनट के इस सायरन में सभी लोगों को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का संकल्प लेना होगा. चौहान ने कहा कि कोरोना जिस रफ्तार से बढ़ रहा है वह वाकई चिंताजनक है. इसी रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए सभी लोगों से सहयोग की अपील है. लोग कोरोना गाइडलाइंस का पालन करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज