दमोह में हार का गुस्सा BJP के जय चंदों पर फूटा : नरोत्तम मिश्रा ने कहा-लड़ाई अपनों से हारे

दमोह विधानसभा सीट बीजेपी 17 हजार से ज़्यादा मतों से हार गयी.

दमोह विधानसभा सीट बीजेपी 17 हजार से ज़्यादा मतों से हार गयी.

Damoh-दमोह चुनाव हारने के बाद बीजेपी के उम्मीदवार राहुल लोधी ने सीधे तौर पर हार के लिए दमोह के पूर्व विधायक और वित्त मंत्री जयंत मलैया को जिम्मेदार ठहराया है.

  • Share this:
भोपाल. दमोह (Damoh by election) में बीजेपी (BJP) की हार के बाद बड़े नेताओं की प्रतिक्रिया भी सामने आने लगी है. पार्टी के दिग्गज नेता अब हार का ठीकरा अपने ही दल के लोगों को जयचंद कहकर उनके सिर फोड़ रहे हैं. अपनों को ही हार के लिए ज़िम्मेदार बताया जा रहा है.

जेल एवं गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा ने दमोह उपचुनाव हारने पर कहा कि हम दमोह नहीं हारे हैं. हम इस बार लड़ाई अपनों से हारे हैं. अपने जय चंदों से हारे हैं. उन्होंने दमोह उपचुनाव जीतने पर कमलनाथ के बयान पर कहा कि कमलनाथ का ध्यान वहां नहीं जा रहा है जहां देश से कांग्रेस साफ हो गई है.

प.बंगाल चुनाव पर कहीं नरोत्तम ने ये बात...

प. बंगाल पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा भाजपा ने विजय का परचम फहराया है. बंगाल में नौटंकी जीत गई. राष्ट्रवादी हार गए. हड्डी जुड़ने का यह नया तरीका देखा परिणाम आने के बाद दीदी खड़ी हो गईं. कोरोना के कारण मतदान कम हुआ. बीजेपी को सभाएं कम करनी पड़ीं. लेकिन दीदी ने सभाएं कीं और अब जीत के बात जश्न मना रही हैं. लेकिन हम 3 से बढ़कर 78 हो गए. भाजपा का सभी राज्यो में वोट बढ़ा है. मोदी जी के नेतृत्व में वोट परसेंटेज बढ़ रहा है.
Youtube Video


जयंत मलैया पर सब का निशाना...

दमोह चुनाव हारने के बाद बीजेपी के उम्मीदवार राहुल लोधी ने सीधे तौर पर हार के लिए दमोह के पूर्व विधायक और वित्त मंत्री जयंत मलैया को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने जयंत मलैया पर उन्हें हराने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा जयंत मलैया की वजह से उनकी हार हुई है. राहुल लोधी के बाद बीजेपी के बड़े नेता भी इसी ओर इशारा कर रहे हैं. हालांकि इन नेताओं ने जयंत मलैया का नाम सीधे तौर पर नहीं लिया है.



जब वैक्सीनेशन होगा शुरू

नरोत्तम मिश्रा ने कहा पिछले दो तीन दिन से कोरोना की स्थिति ठीक हो रही है. टीका को लेकर प्रेरित करें. कांग्रेस ने जो भ्रम फैलाया है गांव में उसका असर है. 18 से 44 साल के लोगों को जल्द वैक्सीन लगेगी. रजिस्ट्रेशन ज़्यादा हुए हैं इसलिए पर्याप्त वैक्सीन की व्यवस्था की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज