Home /News /madhya-pradesh /

MP : अघोषित बिजली कटौती पर अपने ही विधायकों के विरोध में घिरी शिवराज सरकार, 15 घंटे तक बत्ती गुल

MP : अघोषित बिजली कटौती पर अपने ही विधायकों के विरोध में घिरी शिवराज सरकार, 15 घंटे तक बत्ती गुल

mp के ग्रामीण इलाकों में 12 से 15 घंटे तक बिजली की अघोषित कटौती चल रही है.

mp के ग्रामीण इलाकों में 12 से 15 घंटे तक बिजली की अघोषित कटौती चल रही है.

BHOPAL. बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी के बाद टीकमगढ़ विधायक राकेश गिरी ने सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) को लिखा पत्र लिखा है. उन्होंने शिकायत की है कि उनके इलाके में 12 से 15 घंटे तक अघोषित बिजली कटौती हो रही है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश में हो रही अघोषित बिजली कटौती (Power Cut) ने सबको परेशान कर दिया है. किल्लत इतनी बढ़ गयी है कि अब विपक्ष के साथ बीजेपी के विधायक (BJP MLA) भी सरकार से सवाल कर रहे हैं. कुछ इलाकों में तो 12 से 15 घंटे तक बत्ती गुल रहती है. विधायकों ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखा है.

बीजेपी विधायक नारायण त्रिपाठी के बाद टीकमगढ़ विधायक राकेश गिरी ने सीएम को लिखा पत्र लिखा है. उन्होंने शिकायत की है कि उनके इलाके में 12 से 15 घंटे तक अघोषित बिजली कटौती हो रही है. टीकमगढ़ से बीजेपी विधायक राकेश गिरी गोस्वामी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को टीकमगढ़ और निवाड़ी में बिजली की अघोषित कटौती बंद करने के लिए पत्र लिखा है.

बिजली कटौती बंद करें
राकेश गिरी गोस्वामी ने अपने पत्र में लिखा कि जिला टीकमगढ़ और निवाड़ी के ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले एक सप्ताह से बिजली की हर रोज 12 से 15 घंटे की अघोषित कटौती की जा रही है. साथ ही वोल्टेज की समस्या भी बनी हुई है. इससे क्षेत्रीय किसान अपनी फसलों की सिंचाई नहीं कर पा रहे हैं. उन्होंने पत्र में यह भी लिखा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. अघोषित विद्युत कटौती कारण लोगों में भारी आक्रोश है, इसलिए जल्द ही टीकमगढ़ निवाड़ी के ग्रामीण अंचलों में की जा रही अघोषित कटौती बंद करने का कष्ट करें.

ये भी पढ़ें-राजस्थान के नागौर में भीषण सड़क हादसा, उज्जैन के 12 लोगों की मौत, 6 की हालत गंभीर

कांग्रेस ने भी उठाया मुद्दा
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी बिजली की अघोषित कटौती का मुद्दा उठाया. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि मध्यप्रदेश में बिजली का संकट दिन- प्रतिदिन गहराता जा रहा है. ग्रामीण क्षेत्रों और कृषि क्षेत्रों में स्थिति बेहद खराब होती जा रही है. घंटों की अघोषित कटौती की जा रही है. कोयले की कमी के कारण उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है.कई ताप विद्युत परियोजनाएं बंद होने के कगार पर हैं.मांग और आपूर्ति में बड़ा अंतर सामने आ रहा है.सरकार इन सब मामलों से बेखबर बनी हुई है.

कमलनाथ ने कहा
कमलनाथ ने लिखा-हमारी सरकार के समय हमने प्रदेश में कभी बिजली संकट की स्थिति सामने नहीं आने दी और सस्ती दर पर उपभोक्ताओं को बिजली भी उपलब्ध करायी. आज शिवराज सरकार में जनता बिजली संकट और मनमाने बिजली बिलों से भारी परेशान है. मैं सरकार से मांग करता हूं कि प्रदेश की जनता को इस बिजली संकट और मनमाने बिजली बिलों से मुक्ति दिलाए. अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी. इस मुद्दे पर हम प्रदेश व्यापी आंदोलन करेंगे.

Tags: Electricity Bills, Madhya Pradesh Electricity Board, Ministry Of Power, Power consumers

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर