MP by Election 2020 : मंडल के बाद बूथ की लड़ाई जीतने की तैयारी, BJP ने बनाया नया प्लान 

BJP बूथ सम्मेलन 15 से 24 अक्टूबर तक होंगे
BJP बूथ सम्मेलन 15 से 24 अक्टूबर तक होंगे

इससे पहले बीजेपी (BJP) महा जनसंपर्क अभियान और मंडल सम्मेलन कर चुकी है. इनमें पार्टी के बड़े नेता शामिल हो रहे हैं.

  • Share this:
भोपाल.उपचुनाव (By Election) के रण में मतदान की तारीख पास आते ही बीजेपी और कांग्रेस अपनी रणनीति को धार दे रही है. बीजेपी अब मंडल सम्मेलन के बाद बूथ सम्मेलन करने जा रही है. पार्टी चुनाव प्रबंध समिति की बैठक में यह तय किया गया है कि उपचुनाव वाली सीटों पर मंडल सम्मेलन खत्म होने के अगले दिन से ही पार्टी बूथ सम्मेलन में जुट जाएगी.

बीजेपी चुनाव प्रबंध समिति के संयोजक भूपेंद्र सिंह ने बीजेपी के इस नए प्लान के बारे में जानकारी दी कि पार्टी 15 से 24 अक्टूबर तक बूथ सम्मेलन करेगी. ये सम्मेलन उपचुनाव वाले सभी 7 हज़ार बूथ पर किया जाएगा. इसमें बीजेपी के तमाम बड़े नेता मौजूद रहेंगे. बीजेपी उपचुनाव के लिहाज से अभी मंडल सम्मेलन कर रही है. अब तक 59 मंडल सम्मेलन आयोजित किये जा चुके हैं जो 14 अक्टूबर तक चलेंगे. इन सम्मेलनों में सीएम शिवराज से लेकर प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा, नरेंद्र तोमर, कैलाश विजयवर्गीय, फग्गन सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे बड़े नेता शामिल हो रहे हैं. मंडल सम्मेलनों में कार्यकर्ताओं के साथ साथ बीजेपी नेता जनता से भी संवाद कर रहे हैं.

कौन कब कहां होगा शामिल
जेपी के मंडल सम्मेलनों में सीएम शिवराज से लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया तक शिरकत कर रहे हैं. मुख्यमंत्री शिवराज 8,9,10,11,12 अक्टूबर को मंडल सम्मेलन में शामिल हो रहे हैं. जबकि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा 8,9,10,11 अक्टूबर को बूथ कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे. ज्योतिरादित्य सिंधिया 6 दिन में 29 मंडलों का दौरा करेंगे. सिंधिया 7, 8, 9, 10,11,12 अक्टूबर को मंडल सम्मेलन में शामिल होंगे. इसके अलावा थावरचंद गहलोत, नरेंद्र तोमर, कैलाश विजयवर्गीय भी मंडल सम्मेलन में शामिल हो रहे हैं.  बीजेपी 2 अक्टूबर से उपचुनाव वाले सभी 127 मंडलों में सम्मेलनों का आयोजन कर रही है. ये सम्मेलन 14 अक्टूबर तक सभी 28 विधानसभा क्षेत्रों के 127 मंडलों में आयोजित किए जाएंगे. इन सम्मेलनों में मंडल में रहने वाले पार्टी के जिला एवं प्रदेश पदाधिकारी, बूथ कमेटी सदस्य, पेज प्रमुख शामिल हो रहे हैं. इस अभियान के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता एक दिन में 2 मंडलों तक पहुंचकर सम्मेलनों को संबोधित करेंगे.
बीजेपी का जनसम्पर्क अभियान


इससे पहले बीजेपी 25 सितंबर से महा जनसंपर्क अभियान भी चला चुकी है. 25 सितंबर से महा जनसंपर्क अभियान शुरू किया गया था, जो 27 सितम्बर तक चला. उसमें पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं को प्रत्येक बूथ पर घर-घर पहुंचना था. इस अभियान का उद्देश्य घर-घर जनसंपर्क करना, लोगों को प्रदेश सरकार की योजनाओं की जानकारी देना और घरों पर भाजपा के झंडे और स्टीकर लगाना था. उन्होंने बताया कि 28 विधानसभाओं के 7800 बूथों में से 6000 बूथों पर महाजनसंपर्क अभियान चलाया गया. इस दौरान लगभग 11 लाख परिवारों से जनसंपर्क किया गया.

चुनाव तारीख का इंतजार
राजनीतिक पार्टियों की तैयारियां इसलिए भी जोर पकड़ रही हैं क्योंकि अब मतदान में महिना भर भी नहीं रह गया है. 3 नवंबर को वोटिंग है जबकि 10 नवंबर को मतगणना. कांग्रेस और बीजेपी अपने सभी 28 उम्मीदवार ऐलान कर चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज