मध्य प्रदेश उप-चुनाव: महिलाओं पर भरोसा नहीं जताते राजनीतिक दल और मतदाता?

इमरती देवी डबरा से चुनाव हार गयीं
इमरती देवी डबरा से चुनाव हार गयीं

नेपानगर से भाजपा (BJP) की सुमित्रा कास्डेकर और भांडेर से रक्षा सिरोनिया विधानसभा पहुंची हैं. लेकिन भाजपा की इमरती देवी, कांग्रेस (Congress) से पारुल साहू, बड़ा मलहरा से रामसिया भारती और अशोकनगर से आशा दोहरे हार गयीं.

  • Share this:
भोपाल.मध्य प्रदेश (MP) में हाल ही में निपटे उपचुनाव (By election) में महिलाओं के लिए बड़ी-बड़ी बात करने वाले बड़े दलों ने महिलाओं में भरोसा जताया और न ही मतदाताओं ने. 28 सीटों के लिए इस बार सिर्फ 6 ही महिला उम्मीदवारों को टिकट मिला था. उनमें से भी सिर्फ 2 ही जीत पायीं. ये दो महिला प्रत्याशी भी भाजपा की हैं जो अब विधायक बनकर विधान सभा पहुंचेंगीं. बाकी चार महिला प्रत्याशी हार गयीं.

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनाव में 6 महिला प्रत्याशी मैदान में उतरी थीं.ये सभी भाजपा और कांग्रेस से थीं. महिला नेतृत्व वाली बहुजन समाज पार्टी ने तो एक भी महिला को टिकट नहीं दिया. भाजपा और कांग्रेस ने भी महिलाओं को कम मौका दिया. दोनों दलों की मिलाकर 6 महिला प्रत्याशी मैदान में थीं. जनता ने भी महिलाओं को नहीं चुना. 6 में से सिर्फ दो ही चुनाव जीत पायीं. नेपानगर से भाजपा की सुमित्रा कास्डेकर और भांडेर से रक्षा सिरोनिया विधानसभा पहुंची हैं. लेकिन भाजपा की इमरती देवी, कांग्रेस से पारुल साहू, बड़ा मलहरा से रामसिया भारती और अशोकनगर से आशा दोहरे हार गयीं.

महिलाओं पर मतदाताओं का भरोसा कम
चुनाव में महिला मतदाताओं की रुचि अब बढ़ रही है. वो बढ़-चढ़कर वोट डालने के लिए पहुंच रही हैं लेकिन आम मतदाता महिलाओं को अपना नेता नहीं चुन रहा. 2018 के विधानसभा चुनाव में 250 महिलाएं मैदान में उतरी थीं. भाजपा ने 23 और कांग्रेस ने 28 महिला उम्मीदवारों को टिकट दिया था. उनमें से मात्र 20 महिला उम्मीदवार ही जीत पायी थीं. भाजपा से 11 महिला प्रत्याशी, कांग्रेस से 09 और बसपा से 01महिला प्रत्याशी जीती थी.
2013 का इतिहास


2013 के चुनाव में 200 महिला उम्मीदवारों में से 30 महिलाओं पर ही मतदाताओं ने भरोसा जताया था.इनमें भाजपा से 22,कांग्रेस से 06 और बसपा से दो महिला विधायक जीती थीं.

वोट प्रतिशत घटा
उपचुनाव में 23 सीटों पर महिलाओं के वोट प्रतिशत में कमी आई है. 28 में से महज 5 सीटों पर ही महिला मतदाताओं के वोट प्रतिशत में मामूली सा इजाफा हुआ है.उपचुनाव में महिला मतदाताओं का वोट प्रतिशत 2018 की तुलना में 2.74 गिरा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज