नतीजों से पहले CM शिवराज का बड़ा आरोप- बीजेपी विधायकों से संपर्क कर रहे कमलनाथ

उपचुनाव के नतीजे आने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर गंभीर आरोप लगाये.
उपचुनाव के नतीजे आने से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ पर गंभीर आरोप लगाये.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने कहा कि कमलनाथ (Kamalnath) हम पर जोड़-तोड़ करने का आरोप लगाते हैं. लेकिन हम किसी के पास नहीं गए, कांग्रेस के लोग हमारे पास आये.

  • Share this:
भोपाल. मध्य प्रदेश में 28 सीटों के विधानसभा उपचुनाव (Assembly By election) के नतीजे आने से पहले ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के बीच तकरार शुरू हो गई है. शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर सीधा हमला बोलते हुए उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं. शिवराज सिंह की माने तो कमलनाथ बीजेपी विधायकों को फोन कर संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन बीजेपी का एक भी विधायक टस से मस नहीं होगा. उन्होंने कहा कि कमलनाथ अपनी संभावित हार से बौखला गए हैं.

शिवराज ने कहा कि कमलनाथ हम पर जोड़-तोड़ करने का आरोप लगाते हैं. लेकिन हम किसी के पास नहीं गए, कांग्रेस के लोग हमारे पास आये. बीजेपी के दो विधायकों को जब अपने साथ बैठाने का काम कमलनाथ कर रहे थे, जब कोई विधायक अपने मन से बीजेपी में आये, तो उसे गद्दारी कह रहे हैं. एमपी की राजनीति में गंदगी कमलनाथ लाए, गंदा खेल कमलनाथ ने शुरू किया. राजनीतिक भ्रष्टाचार की शुरुआत एमपी में कमलनाथ ने की.

कमलनाथ भी लगा रहे आरोप
इससे पहले बीजेपी और सरकार पर आरोप लगाते हुए कमलनाथ ने कहा था कि जनता को भूलकर सौदेबाजी की सरकार फिर सौदेबाजी में लग गयी है. उपचुनावों में हार सामने देख टिके रहने के लिए सौदेबाजी पर बीजेपी उतर आई है. लेकिन सौदेबाजी की सरकार को मध्‍य प्रदेश स्‍वीकार नहीं करेगा.
कमलनाथ ने कहा था कि उनके पास कांग्रेस के विधायकों और निर्दलीय विधायकों की तरफ से यह सूचना मिल रही है कि भाजपा के लोग उनसे संपर्क करके तरह-तरह के प्रलोभन दे रहे हैं. लेकिन भाजपा यह समझ लें कि इस प्रदेश की जनता ने सौदेबाजी और बोलियों से बनी सरकार को अस्‍वीकार कर दिया है. 10 नवम्‍बर को उपचुनाव के परिणाम इस बात को सिद्ध करेंगे कि प्रदेश की जनता ने सौदेबाजी की सरकार को नकार दिया है.



नतीजों का इंतज़ार
मध्य प्रदेश में 28 सीटों के लिए हुए विधानसभा उपचुनाव में 3 नवंबर को वोट डाले गए थे और अब नतीजे 10 नवंबर को सामने आएंगे. एक तरफ जहां कांग्रेस यह दावा कर रही है कि वह 28 में से 28 सीट पर जीत दर्ज कर रही है तो वहीं बीजेपी का दावा है कि मध्य प्रदेश में बीजेपी की सरकार है और 10 तारीख के बाद भी बीजेपी की ही सरकार रहेगी.

आपको बता दें कि विधानसभा उपचुनाव के बाद मैजिक फिगर के लिहाज से जहां बीजेपी को बहुमत के लिए सिर्फ 8 सीटों की जरूरत है, वहीं कांग्रेस को उपचुनाव की सभी 28 में से 28 सीट बहुमत के लिए जीतनी हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज